Akshaya Tritiya 2020: लॉकडाउन में घर में ही कैसे करें अक्षय तृतीया की पूजा- ज्योतिर्विद श्यामा गुरुदेव

Akshaya Tritiya 2020: लॉकडाउन में घर में कैसे करें अक्षय तृतीया की पूजा

बैशाख शुक्ल पक्ष तृतीया 26 अप्रैल को अक्षय तृतीया का पावन पर्व श्रद्धा, सादगी के साथ मनाया जाएगा। इस बार कोरोना वायरस संक्रमण और लॉकडाउन के चलते यह पर्व भी घरों में मनाया जायेगा। इसी दिन भगवान परशुराम की जयंती भी है। शुभ मुहूर्त में लोग घरों में भगवान विष्णु और महालक्ष्मी का पूजन-अर्चन कर सुख -समृद्धि और कोरोना से मुक्ति की कामना करेंगे।

अन्न से मिलेगा सोने-चांदी का फल: ज्योतिषाचार्य पंडित अवध नारायण द्विवेदी के अनुसार अक्षय तृतीया के दिन सुख-समृद्धि के लिए भगवान विष्णु और महालक्ष्मी का पूजन-अर्चन किया जायेगा। जातक इस बार स्वर्ण की जगह थोड़ी सी चने की दाल और चांदी की जगह चावल अलग पात्र में रखें। जब धातुओं की खरीदारी करें तब उस पर वही अन्न छिड़क दें। इससे पुण्य की प्राप्ति होगी।

ऐसे करें अक्षय तृतीया पूजा 26 अप्रैल को तृतीया तिथि दोपहर 1 बजकर 52 मिनट तक रहेगी। इसलिए पूजन इससे पहले ही करना आवश्यक रहेगा। अक्षय तृतीया का पूजन करने के लिए प्रात: स्नानादि से निवृत्त होकर अपने घर के पूजा स्थान में एक चौकी पर लाल कपड़ा बिछाएं। इस पर कुमकुम-हल्दी से स्वस्तिक बनाकर उस पर एक तांबे या आपके घर में जिस भी धातु का कलश (लोटा) हो, स्थापित करें। उसमें चावल या शक्कर भरें। यदि घर में श्रीफल उपलब्ध हो तो उसे कलश के ऊपर स्थापित करें।

कलश किसी योग्य ब्राह्मण को दान करें… श्रीफल ना होने की स्थिति में कलश का मुंह पर पूजा की सुपारी और सिक्का रखें। कलश पर स्वस्तिक बनाकर उसकी गर्दन में मौली बांधें। कलश के आसपास घर में उपलब्ध सोने-चांदी के आभूषण रखें और सभी का विधिवत पूजन करें। पूजन संपन्न् हो जाने के बाद संकल्प करें कि परिवार की सुख-समृद्धि और धन-धान्य से भंडार भरे रखने के निमित्त यह कलश आप किसी ब्राह्मण को दान देंगे। जब लॉकडाउन खुल जाए तब यह कलश किसी योग्य ब्राह्मण को दान करें। इस दिन घर में हलवा या केसरिया भात का भोग बनाएं और नैवेद्य के रूप में भगवान को अर्पित करें।

लॉक डाउन के कारण अगर आप सोना नहीं खरीद सकते हैं तो निराश होने की आवश्यकता नहीं है। आप मात्र 5 रुपए की चीज घर में रखकर भी शुभता प्राप्त कर सकते हैं।
http://indiaastrologyfoundation.in/astrology/akshay-tritiya-2020-date-muhurtahistory-important-rituals-jyotirvidh-shyama-gurudev/

  1. मिट्टी का दीपक :मिट्टी की महत्ता सोने के बराबर है। अगर सोने की खरीदी न कर सके तो मिट्टी का कोई भी पात्र या मिट्टी का एक छोटा दीपक भी अक्षय तृतीया के दिन घर में शुभता ला सकता है।

 

  1. मौसमी फल :अक्षय तृतीया के शुभ मुहूर्त में मौसम के रसीले फल रखनाभी शुभ होता है। आप कम से कम कीमत में अच्छे फल रख

    सकते हैं।

 

  1. कपास :अक्षय तृतीया पर 5 रुपए की कपास यानी रुई भी रखी

    जा सकती है।

 

  1. नमक :अक्षय तृतीया पर सेंधा नमक घर में रखना शुभ माना जाता है। लेकिन इस नमक का सेवन कतई न करें।

 

  1. पीली सरसो :मुट्ठी भर पीली सरसो रखने से मां लक्ष्मी का आशीष मिलता है।

 

 

लॉक डाउन के कारण खरीदी सम्भव नहीं है तो घर में रखी सामग्री को शुद्धकर प्रयोग कर सकते हैं..

 

अक्षय तृतीया पर इन 18 में से कर लीजिए कोई भी 2 काम, हो जाएंगे मालामाल

Akshaya Tritiya 2020: लॉकडाउन में घर में कैसे करें अक्षय तृतीया की पूजा

वैशाख शुक्ल पक्ष तृतीया को ही अक्षय तृतीया कहते हैं। इस बार अक्षय तृतीया का महापर्व 26 अप्रैल 2020 को है। इस दिन मांगलिक कार्य, मुंडन, शादी-विवाह, बहू का प्रथम बार रसोई स्पर्श, दुकान का उद्घाटन, व्यापार का प्रारंभ और सारे शुभ कार्य किए जाते हैं।

 

अक्षय तृतीया के दिन दिया गया दान कभी नष्ट नहीं होता। उसका फल आपको इस जन्म के साथ साथ कई जन्मों तक मिलता रहता है। आइए जानें 18 ऐसे काम जिनमें से अगर आपने अपनी सुविधा के अनुसार 2 भी कर लिए तो हो जाएंगे मालामाल…

 

  1. इस दिन लोगों को मीठा खिलाएं और शीतल जल पिलाएं।

 

  1. साथ ही गर्मी से बचने के लिए जरूरतमंदों को छाता, मटकी और पंखे का दान करें।

 

  1. मंदिरों में वॉटर कूलर लगवाएं और भंडारा करवाते हुए मिठाई खिलाइएं। इससे आपको उस पुण्य की प्राप्ति होगी जिसका कभी क्षय नहीं हो सकता है।

  2. अक्षय तृतीया को श्री विष्णु भगवान की पूजा माता लक्ष्मी के साथ साथ करना चाहिए।

 

  1. श्री विष्णुसहस्त्रनाम का पाठ और श्री सूक्त का पाठ जीवन में धन, यश, पद और प्रतिष्ठा की प्राप्ति कराएगा।

 

  1. अक्षय तृतीया की पूजा में भगवान विष्णु को पीला पुष्प अर्पित करें और पीला वस्त्र धारण कराकर घी के 9 दीपक जलाकर पूजा प्रारंभ करें।

 

  1. जो लोग बीमारियों से ग्रस्त हैं उनको आज के दिन रामरक्षा स्तोत्र का पाठ अवश्य करना चाहिए।

 

  1. अक्षय तृतीया के दिन चांदी के सिक्के और स्वर्ण आभूषणों की खरीददारी कीजिए।

 

  1. नए वस्त्र धारण करें और मंदिर में अन्न और फल का दान करें।

 

10.अस्पतालों में मीठा,जल और फल का वितरण करने से अनंत पुण्य की प्राप्ति होती है।

 

  1. इस दिन अपने मित्रों को और विद्वानों को धार्मिक पुस्तक का दान करने से देव गुरु बृहस्पति प्रसन्न होते हैं।

  2. विद्यार्थियों को इस दिन कठिन परिश्रम का प्रतिज्ञा करना चाहिए। छात्रों को दृढ़ संकल्पित होकर आज ईश्वर के सामने यह संकल्प लेना चाहिए कि हम आज से कठिन परिश्रम करेंगे और माता पिता का चरण स्पर्श कर आशीर्वाद प्राप्त करने के साथ साथ गुरु का भी आशीर्वाद प्राप्त करना चाहिए क्योंकि माता, पिता और गुरु का आशीर्वाद आज के दिन अनंत गुना फलदायी होता है।

 

13.इस महापर्व पर कोई भी शुभ कार्य प्रारम्भ कर सकते हैं। वाहन खरीद सकते हैं। विवाह और कोई भी शुभ मांगलिक कार्य इत्यादि कर सकते हैं।

 

  1. इस दिन छाते का दान अवश्य करें। जगह-जगह लोगों को जल पिलाने की व्यवस्था करें।

 

  1. भोजन में सत्तू का प्रयोग करें। इस दिन सत्तू दान का बहुत महत्व है।

 

  1. मंदिर में जल का पात्र और पूजा की थाल, घंटी इत्यादि का दान करें।

 

  1. लोगों में धार्मिक पुस्तक बांटें और अपने घर के मंदिर में पूरे 24 घंटे घी का दीपक जलाएं।

 

  1. इस दिन श्री रामचरितमानस के अरण्य काण्ड का पाठ करना चाहिए। इस काण्‍ड में भगवान राम ऋषियों और महान संतों को दर्शन देते हैं और उनके जन्म जन्मान्तर के पुण्य का फल प्रदान करते हैं। इस काण्ड का पाठ करने से भगवान श्री राम की भक्ति प्राप्त होती है।

लॉक डाउन की वजह से उपरोक्त बहुत से काम सम्भव नहीं होंगे ऐसे में वही काम कीजिये जो आसानी से हो सके।

अक्षय तृतीया के दिन ये 4 काम करें, दुर्भाग्य का होगा अंत, भाग्योदय होगा तुरंत

http://indiaastrologyfoundation.in/wp-content/uploads/2020/04/AT-LOCKDOWN-WP.jpg

जिन जातकों की जन्मपत्रिका में ‘पितृ-दोष’ है वे ‘अक्षय-तृतीया’ के दिन प्रात:काल किसी स्वच्छ स्थान या मन्दिर में लगे पीपल के ऊपर अपने पितृगणों के निमित्त घर का बना मिष्ठान व एक मटकी में शुद्ध जल रखें। पीपल के नीचे धूप-दीप प्रज्ज्वलित कर अपने पितृगणों की संतुष्टि के लिए प्रार्थना करें।

तत्पश्चात् बिना पीछे देखे सीधे अपने घर लौट आएं, ध्यान रखें इस प्रयोग को करते समय अन्य किसी व्यक्ति की दृष्टि ना पड़ें। इस प्रयोग को करने से पितृगण शीघ्र ही संतुष्ट होकर अपना आशीर्वाद प्रदान करते हैं। अन्य उपाय…

  1. सुख शांति :11 गोमती चक्रों को लाल रेशमी वस्त्र में बांधकर चांदी की डिब्बी में रखकर पूजा स्थान में रखने से घर में सदैव सुख-शांति का वातावरण बना रहता है।

 

  1. व्यापारिक लाभ :27 गोमती चक्रों को पीले या लाल रेशमी वस्त्र में बांधकर अपने प्रतिष्ठान के मुख्य द्वार पर बांधने से व्यापार में आशातीत लाभ होता है।

 

  1. कर्मक्षेत्र :यदि कर्मक्षेत्र में बाधाएं आ रही हों या पदोन्नति में रुकावट हो तो ‘अक्षय-तृतीया’ के दिन शिवालय में शिवलिंग पर 13 गोमती चक्र अपनी मनोकामना का स्मरण करते हुए अर्पित करने लाभ होता है।

  2. भाग्योदय :भाग्योदय हेतु ‘अक्षय-तृतीया’ के दिन प्रात:काल उठते ही सर्वप्रथम 11 गोमती चक्रों को पीसकर उनका चूर्ण बना लें, फिर इस चूर्ण को अपने घर के मुख्य द्वार के सामने अपने ईष्ट देव का स्मरण करते हुए बिखेर दें। इस प्रयोग से कुछ ही दिनों में साधक का दुर्भाग्य समाप्त होकर भाग्योदय होता है।

अक्षय तृतीया 2020 : जानिए शुभ मुहूर्त कौन से हैं,इन 3 में से कोई 1 मंत्र चमका देगा आपका सौभाग्य

 

अक्षय तृतीया मुहूर्त

 अक्षय तृतीया – 26 अप्रैल  2020,

अक्षय तृतीया पूजा मुहूर्त – 05:48 से 12:19

अगर बाज़ार खुले रहे तो सोना खरीदने का शुभ समय – 05:48 से 13:22

 तृतीया तिथि प्रारंभ – 11:51 (25 अप्रैल 2020)

 

 

तृतीया तिथि समाप्ति – 13:22 (26 अप्रैल 2020)

अक्षय तृतीया के दिन सुबह जल्दी उठकर नित्य कर्मों से निपट कर तांबे के बर्तन में शुद्ध जल लेकर भगवान सूर्य को पूर्व की ओर मुख करके चढ़ाएं तथा इन 3 में से किसी 1 मंत्र का जप करें-

ॐ भास्कराय विग्रहे महातेजाय धीमहि, तन्नो सूर्य: प्रचोदयात्

 

ॐ ह्रीं ह्रीं सूर्याय, सहस्त्र किरणाय मनोवांछित फलं देहि देहि स्वाहा

 

ॐ ऐहि सूर्य सहस्त्रांशो तेजो राशे जगत्पते, अनुकंपये मां भक्तया, ग्रहाणार्घ्यं दिवाकर

 

अक्षय तृतीया के बाद प्रत्येक दिन सात बार इस प्रक्रिया को दोहराएं। आप देखेंगे कि आश्चर्यजनक रूप से आपका भाग्य चमक उठेगा। यदि यह उपाय सूर्योदय के एक घंटे के भीतर किया जाए तो और भी शीघ्र फल देता है।

इंडिया एस्ट्रोलॉजी फ़ाउन्डेशन

ज्योतिर्विद श्यामा गुरुदेव (आध्यात्मिक मार्गदर्शक एवं ज्योतिषीय चिंतक)

Help WHO fight COVID-19

Leave a Reply