राशि अनुसार होली 2020 के उपाय जल्द मिलेगा हर समस्या से छुटकारा

यदि आप अपनी कुंडली दिखा कर परामर्श लेना चाहते हो तो या किसी समस्या से निजात पाना चाहते हो तो कॉल करके या नीचे दिए लाइव चैट ( Live Chat ) से चैट करे साथ ही साथ यदि आप जन्मकुंडली, वर्षफल, या लाल किताब कुंडली भी बनवाने हेतु भी सम्पर्क करें Call &Whats app Number : 7620314972 rashi anusar holi ke upay by Astrologer Shyama Gurudev & India Astrology Foundation.

द्वादश राशि के जातक-जातिकाएं होली के दिन क्या उपाय करें कि उनके घर में खुशहाली आए, कारोबार में वृध्दि हो, धन लाभ हो और आस पास का सम्पूर्ण वातावरण मंगलमय हो।

होली हिंदू धर्म के बड़े त्योहारों में से एक है. इस बार होली का त्योहार 10 मार्च 2020 को मनाया जाएगा. होली का नाम सुनते ही अपने मन व् दिल में आनन्द व् उल्लास के गुब्बारे खिल जाते है ! क्योंकि यह पर्व ही कुछ ऐसा है ! होली का पर्व सारे देश में किसी ना किसी रूप में बनाया जाता है ! यह तो आप सब जानते हो की होली हर वर्ष की फाल्गुन मास में शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को मनायी जाती है ! इसलिए आज हम आपको आपकी राशि अनुसार होली के उपाय rashi anusar holi ke upay बताने जा रहे हैं ! होली के दिन कैसे कपडे पहने, राशि के अनुसार क़िस्मत को तेज़ करने के कुछ rashi anusar holi ke upay आदि बताने जा रहे है ! जिन्हें आप करके अपने जीवन में कुछ हद तक बदलवाव ला सकते है ! Online Specialist Astrologer Shyama Gurudev & India Astrology Foundation द्वारा बताये जा रहे राशि अनुसार होली के उपाय ( Rashi Anusar Holi Ke Upay & Rashi Anusar Kare Holi Par Ye Upay ) को अपनाकर आप भी होली पर अपनी किस्मत सवार सकते है

यदि आप अपनी कुंडली दिखा कर परामर्श लेना चाहते हो तो या किसी समस्या से निजात पाना चाहते हो तो कॉल करके या नीचे दिए लाइव चैट ( Live Chat ) से चैट करे साथ ही साथ यदि आप जन्मकुंडली, वर्षफल, या लाल किताब कुंडली भी बनवाने हेतु भी सम्पर्क करें Call &Whats app Number : 7620314972 rashi anusar holi ke upay by Astrologer Shyama Gurudev & India Astrology Foundation.

हमारे प्राचीन मनीषियों ने फाल्गुन पूर्णिमा को विशेष महत्त्व देते हुए उस दिन गेहूंजौ आदि की बालियां होलिका में भून कर नवान्नेष्टि करने का निर्देश दिया है और एकदूसरे को मिष्टान सहित बांट कर खानेखिलाने को लाभप्रद बताया है। पूजापाठ साधना की दृष्टि से भी होली की रात्रि को अति महत्त्वपूर्ण बताया गया है जिसमें संकल्प लेकर किए जाने वाले उपायों का लाभ अवश्य प्राप्त होता है। द्वादश राशि के जातकजातिकाएं होली के दिन क्या उपाय करें कि उनके घर में खुशहाली आएकारोबार में वृध्दि होधन लाभ हो और आस पास का सम्पूर्ण वातावरण मंगलमय हो।

मेष राशि :

1. यदि आपकी राशि मेष है तो  इस राशि के जातक-जातिकाओं को किसी भी प्रकार की कारोबारी, पारिवारिक या स्वास्थ्य सम्बंधी परेशानी हो या इसका हमेशा भय बना रहता है, मेहनत का उचित फल नहीं मिलता हो। तो होलिका दहन के समय एक तांबे की कटोरी में चमेली का तेल, पांच लौंग और आंवले के पेड़ के पांच पत्ते, थोड़ा सा गुड़। यह सभी समान कटोरी में रख दें। मंगल गायत्री का 108 बार जाप करते हुए समस्त सामग्री को होलिका दहन के समय होलिका में अर्पित कर देना चाहिए। प्रात: काल सुबह होली की थोड़ी सी राख लेकर आएं और उस राख को चमेली के तेल में मिला कर अपने शरीर पर मालिश करें। किसी भी तरह की समस्या होगी उसका निवारण होगा। एक घंटे बाद हल्के गरम पानी से स्नान कर लें।

  1. दूसरे दिन ब्रह्ममुर्हूत्त में जहाँ होली जली थी वहाँ की सातचुटकी राख, सात तांबे के छेद वाले सिक्के, लाल कपड़े में बांधकर अपने व्यापारिक प्रतिष्ठान के मुख्य द्वार पर टांग दें या इस सामग्री को अपनी तिजोरी में रख दें। धन लाभ अवश्य होगा।

  2. मेष राशि वाले जटा वाला एक नारियल लें. उसे घर के मन्दिर में स्थापित करें. कुमकुम, साबुत चावल और बताशे रखकर पूजा करें. उसपर लाल कलावा अपनी समस्या बोलते हुए बांध दें. होलिका दहन के समय उस नारियल को होली की अग्नि में डाल दें. आपके स्वास्थ्य की सारी समस्याएं खत्म होंगी.

 वृष राशि:

  1. वृष राशि के जातक-जातिकाओं को यदिव्यापारिक समस्या हो, घर में सुख शांति न हो, लेन-देन के मसलों से परेशानी हो, स्वास्थ्य अनुकूल न रहता हो, कारोबार से लाभ न मिल रहा हो तो चाँदी की कटोरी ले लें और उसमें थोड़ा सा दूध, पांच चुटकी चावल डाल दें, गुलमोहर के पांच पत्ते डाल दें। थोड़ा पांच चुटकी शक्कर, इन सारे सामानों को होलिका दहन के समय शिव गायत्री का 108 बार जाप करके अग्नि को समर्पित कर दें। कैसी भी व्यापारिक समस्या होगी उसका निवारण हो जाएगा।

  2. होली के प्रात:कालसफेद कपड़े में 11 चुटकी होलिका दहन की राख और एक सिक्का चाँदी का बांध लें। इस सामग्री को अपनी तिजोरी में रख दें। कारोबारी सारी समस्याओं का निवारण होगा।

  3. वृषभ राशि के लोग गुलाबी वस्त्र में 11 सुपारी और 5 कौड़ियां बांधें. इस वस्त्र पर चंदन का इत्र लगाएं और अपने ऊपर से 7 बार वार लें. अब इसे होली की अग्नि में डाल दें. रोजगार की सारी मुश्किलें दूर होंगी. गुलाबी रंग का अबीर अपनी पत्नी को लगाएं. इससे कलह क्लेश खत्म होंगे.

 मिथुन राशि:

 

  1. मिथुन राशि के जातक को होली वाले दिन अनावश्यक कलह, व्यापार में घाटा, अपनों का विरोध, मानसिक अस्थिरता, इन सारी समस्याओं के निवारण के लिएहोलिका दहन के समय कांसे की कटोरी में 50 ग्राम हरे धनिया का रस, 108 दाने साबूत मूंग के, पीपल के पांच पत्ते, कोई भी हरे रंग की मिठाई – इन सारी सामग्रियों को अपने हाथ में रख कर ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डाय विच्चे का 108 बार जाप करके इस सामग्री को होलिका दहन के समय अग्नि को समर्पित कर दें। सारी समस्याओं का निवारण हो जाएगा।

  2. हरे कपड़े में3 चुटकी होलिका दहन की राख, 3 हरे हकीक के पत्थर बांधकर अपने व्यापारिक प्रतिष्ठान के मुख्य द्वार पर बांध लें या इस सामग्री को तिजोरी में रख दें। कारोबारी समस्या का निवारण अवश्य होगा।

  3. मिथुन राशि के लोग भगवान गणेश के सामने 27 मखाने रखें. शुद्ध घी का दीपक जलाएं. चन्द्र देव की पूजा करें. अपनी इच्छा बोलते हुए मखाने दाएं हाथ से होली की अग्नि में डालें. नौकरी की परेशानिया खत्म होंगी, हरे रंग के गुलाल मित्रों को लगाएं दोस्ती में मजबूती आएगी.

कर्क राशि :

  1. कर्क राशि के जातक को होली वाले दिन केसरका सेवन करना चाहिए। मानसिक अस्थिरता रहे, काम में रुचि नहीं रहे, अपनों से धोखा मिला करे, काम बदलने की प्रवृत्ति बढ़े, तो ऐसी अवस्था में सभी समस्याओं के समाधान के लिए एक कटोरी ले लें और उसमें थोड़ा सा दही रख लें, फिर उसमें पांच चुटकी चावल भी डाल लें, अशोक के सात पत्ते और सफेद पेठा की मिठाई ले लें। इन सबको कटोरी में रख कर अपने हाथ में रख लें। महामृत्युंजय का 108 बार जाप करके अग्नि को समर्पित कर दें। इससे सारी समस्याओं का निवारण हो जाएगा।

  2. प्रात:काल सफेद कपड़े में होलिका दहनकी राख 7 चुटकी, 7 गोमती चक्र बांधकर दुकान, व्यापारिक प्रतिष्ठान या घर के मुख्य द्वार पर लटका दें अथवा अपनी तिजोरी में रख दें। महालक्ष्मी की कृपा अवश्य होगी।

  3. कर्क राशि के सभी लोग गेंहू और चावल के आटे का एक चौमुखी दीपक बनाएं. इसमें तिल का तेल डालकर घर के मुख्य द्वार पर जलाएं. होलिका की अग्नि में जौ के 27 दाने दाम्पत्य जीवन के सुखी होने की इच्छा से डालें. सफेद अबीर शिवलिंग पर लगाएं मन शांत होगा.

 

सिंह राशि:

  1. सिंह राशि के जातक को होली वाले दिन लाल सिन्दूर का टीका मस्तक पर लगाना चाहिए । यदि कारोबार में सफलता नहीं मिल रहीहो, स्वास्थ्य अनुकूल नहीं हो, कार्यों में अप्रत्याशित बाधा आ रही हो तो होलिका दहन के दिन कांसे की कटोरी में थोड़ा सा घी ले लें, पांच चुटकी गेहूं, पांच चुटकी देसी खाण्ड, अशोक वृक्ष के पांच पत्ते, कटोरी में रखकर अपने हाथ में ले लें और सूर्य गायत्री का 108 बार जाप करके समस्त सामग्री को होलिका को समर्पित कर दें। सारी समस्याओं का समाधान हो जाएगा।

  2. सुनहरे कपड़े में5 चुटकी होलिका दहन की राख, तांबे के पत्र पर खुदा हुआ सूर्य यंत्र, पांच तांबे के पुराने सिक्के बांधकर जहाँ धन रखते हैं, यदि वहाँ रख दिया जाए तो व्यावसायिक प्रतिकूलताओं का शमन होगा। एक बात का ध्यान अवश्य रखें, सूर्य यंत्र को खोल कर घी का दिया व धूप अवश्य दिखाएं।

 

कन्या राशि:

  1. . कन्या राशि के जातक को होली वाले दिन कपूर को हाथ में मसल कर सूंघना चाहिये।किसी काम में स्थिरता नहीं बनती हो, दिए हुए पैसे वापस नहीं मिल रहे हों, अपनों की वजह से हमेशा परेशानी झेलनी पड़ रही हो या कारोबारी या कानूनी समस्या हो तो ताम्बे की कटोरी में आंवले का थोड़ा सा तेल ले लें और पांच पत्ते नीम, पांच इलायची, नारियल से बनी मिठाई, इन सारी सामग्री को कटोरी में डाल कर अपने हाथ में रख लें और 108 बार बुध के बीज मंत्र का जाप करते हुए सारी सामग्री को हालिका में दहन कर दें। सारी समस्याओं का निवारण हो जाएगा।

  2. हरे कपड़े में11 चुटकी होलिका दहन की राख, 11 बलास्त (बीता) हरा धागा, छेद वाले तांबे के सात सिक्के बांध कर दुकान, व्यापारिक प्रतिष्ठान आदि के मुख्य द्वार पर टांग दें या अपने तिजोरी में रखने से कारोबार में वृध्दि होगी और सारी समस्याओं का निवारण हो जाएगा।

  3. कन्या राशि के लोग 11 लौंग के जोड़े और 11 हरी दूर्वा लें. अपने बच्चों का हाथ लगवाकर घर के मंदिर में रखें. इसके बाद होली की अग्नि में सारी सामग्री डाल दें. आपके बच्चे बुरी नजर से बचे रहेंगे. हरा गुलाल भाई बहनों को लगाएं. इससे आपसी प्यार बढ़ेगा.

 

 तुला राशि:

  1. यदि व्यापारिक, शारीरिक या पारिवारिकसमस्याओं से जूझना पड़ रहा हो अथवा अनावश्यक कार्य बाधा आ रही हो तो इन्हें चाँदी की कटोरी में पांच छोटी चम्मच गाय के दूध की खीर ले लें, पांच पत्ते शीशम के, गेंदा के पांच फूल, इन सारी सामग्रियों को अपने हाथ में रख कर शिव षडाक्षरी मंत्र यानी ॐ नम: शिवाय का 108 बार जाप करके होलिका दहन के समय यह समस्त सामग्री अग्नि को समर्पित कर दें। सारी समस्याओं का निवारण हो जाएगा।तुला राशि के जातक को होली वाले दिन शहतूत खाना चाहिये !

  2. क्रीम रंग के कपड़े में7 चुटकी होलिका दहन की राख, 7 कोड़ियां पीली धारी वाली बांधकर अपनी तिजोरी में रख दें। अवश्य लाभ होगा।

  3. तुला राशि के सभी लोग पीपल के पत्ते पर 1 जायफल, थोड़े साबुत चावल और मिश्री रखें. घर से घुमाते हुए होली की अग्नि में डाल दें. घर के मुख्य द्वार पर रोली से ॐ का चिन्ह बनाएं. इससे पारिवारिक कलह क्लेश खत्म होंगे. गुलाबी अबीर प्रेमी या प्रेमिका को लगाएं प्यार बढ़ेगा.

 

 वृश्चिक राशि:

  1. वृश्चिक राशि के जातक को होली वाले दिन सर पर टोपी लगाना या पगड़ी बांधना चाहिये।इस राशि के जातक-जातिका यदि कार्यसफलता के लिए जूझना पड़ रहा हो और तब भी कार्य सफलता न मिल रही हो, कारोबार में लाभ न मिल रहा हो तो इन्हें तांबे की कटोरी में चमेली का तेल डाल कर, पांच साबूत लाल मिर्च, एक बुंदी का लड्डू, पांच गूलर के पत्ते, इन समस्त सामग्री को अपने हाथ में रखकर ॐ हं पवननन्दनाय स्वाहा का 108 बार जाप करके सारी सामग्री अग्नि को समर्पित कर दें। सारी समस्याओं का निवारण हो जाएगा।

  2. लाल कपड़े में17 चुटकी होलिका दहन की राख, 1 लाल मूंगा बांधकर अपनी तिजोरी में रख दें। कारोबार सम्बंधित सारी समस्या का निवारण होगा।

  3. वृश्चिक राशि के लोग पान के 1 पत्ते पर एक साबुत सुपारी, 5 कमलगट्टे घी में डुबाकर रखें. ॐ हनुमते नमः मन्त्र 27 बार बोलें और अग्नि में डाल दें. व्यापार और साढ़ेसाती की समस्या खत्म होगी. लाल गुलाल अपने सहपाठियों, सहकर्मीयों को, व्यापारी मित्रों को लगाएं. ऐसा करने से रिश्ता मजबूत होगा.

 

धनु राशि:

  1. यदि व्यापारिक, शारीरिक या पारिवारिकसमस्याओं से जूझना पड़ रहा हो अथवा अनावश्यक कार्य बाधा आ रही हो तो इन्हें एक पीतल की कटोरी में देसी गाय का थोड़ा सा घी, थोड़ा सा गुड़, पांच चुटकी चने की दाल, पांच आम के पत्ते डाल अपने हाथ में रख लें फिर बृहस्पति गायत्री मंत्र का 108 बार जाप करके इन समस्त सामग्रियों को होलिका दहन के समय अग्नि को समर्पित कर दें। सारी समस्याओं का निवारण हो जाएगा । धनु राशि के जातक को होली वाले दिन नये कपड़े पहनने के बाद बांई आंख से चांदी को स्पर्श करना चाहिये ।

  2. पीलेकपड़े में 9 चुटकी होलिका दहन की राख एवं 11 पीली कोड़ियां बांधकर अपनी तिजोरी में रख लें। कारोबार सम्बंधी कष्टों से छुटकारा मिल जाएगा।

  3. धनु राशि के लोग एक नारियल काटकर उसमें एक मुट्ठी सात अनाज भरकर घर के मंदिर में रखें. होलिका दहन के समय उस गोले को माथे से स्पर्श कराकर होली की अग्नि में डाल दें. नवग्रहों की पीड़ा खत्म होगी पीला अबीर अपने गुरु को लगाएं आशीर्वाद मिलेगा.

 मकर राशि:

  1. मकर राशि के जातक को होली वाले दिन नये कपड़े में जेब में लेखनी रखनाचाहिये ।

यदि व्यापारिक, शारीरिक या पारिवारिक समस्याओं से जूझना पड़ रहा हो, अथवा अनावश्यक कार्य बाधा आ रही हो तो इन्हें एक लोहे की कटोरी में सरसों का तेल थोड़ा सा लें, उसमें पांच चुटकी काली तिल, पांच बरगद के पत्ते, एक काला गुलाब जामुन मिठाई, इन समस्त सामग्रियों को अपने हाथ में लेकर ॐ शं शनैश्चराय नम: इस मंत्र का 108 बार जाप करके इस समस्त सामग्री को हालिका दहन के समय अग्नि में समर्पित कर दें। सारी समस्याओं का निवारण हो जाएगा।

  1. नीले कपड़े में11 चुटकी राख, 11 छोटी लोहे की कील बांधकर घर या व्यापारिक संस्था के मुख्य द्वार पर लटका दें। सारी समस्याओं का निवारण हो जाएगा।

  2.  मकर राशि के लोग एक पीपल के पत्ते पर आधा मुट्ठी काले तिल रखें. अपनी इच्छा बोलकर पत्ते को घर की पश्चिम दिशा में रखें. शाम के समय अपने ऊपर से सात बार वारकर होली की अग्नि में डाल दें. नजरदोष और कलह क्लेश से छुटकारा मिलेगा. जामुनी गुलाल अपने व्यापारी मित्रों को लगाएं. इससे व्यापारिक रिश्ते मजबूत होंगे.

कुम्भ राशि:

  1. यदि व्यापारिक, शारीरिक यापारिवारिक समस्याओं से जूझना पड़ रहा हो, अथवा अनावश्यक कार्य बाधा आ रही हो तो इन्हें एक स्टील की कटोरी में तिल का तेल, 108 दानें साबूत उड़द के, खेजड़ी (झण्डी) के पांच पत्ते या कदंब के पांच पत्ते, पांच काली मिर्च, कोई भी काले रंग की एक मिठाई, इन समस्त सामग्री को अपने हाथ में रख कर मंगलकारी शनि मंत्र की 108 बार जाप करके होलिका दहन के समय अग्नि को समर्पित कर दें। सारी समस्याओं का निवारण हो जाएगा।

कुम्भ राशि के जातक को होली वाले दिन नये कपड़े पहनने से पहले चेहरे को दही से धोना चाहिये और कपड़ो पर सुगन्ध जरुर लगानी चाहिये ।

 

  1. काले कपड़े में11 चुटकी होलिका दहन की राख, 7 काजल की डिब्बी बांधकर कारोबारी प्रतिष्ठान के मुख्य द्वार पर लटका दें। सारी समस्याओं का निवारण हो जाएगा।

  2. कुंभ राशि के लोग पान के पत्ते पर उतने काली उड़द के दाने रखें जितनी आपकी उम्र है. मन की इच्छा बोलें और होली की अग्नि में डाल दें. इस प्रयोग से जमीन जायदाद के झगड़े खत्म होंगे. नीला गुलाल पीपल पर और परिवार के लोगों को लगाएं. ऐसा करने से मानसिक परेशानियां खत्म होंगी.

मीन राशि:

  1. मीन राशि के जातक को होली वाले दिन नये कपड़े पहनने के बाद थोड़ा गुड़ खाना चाहिये।

यदि व्यापारिक, शारीरिक या पारिवारिक समस्याओं से जूझना पड़ रहा हो अथवा अप्रत्याशित कार्य बाधा आ रही हो तो इन्हें कांसे की कटोरी में बादाम का तेल थोड़ा सा उसमें 108 जोड़े चने की दाल के, कोई भी थोड़ी सी पीली मिठाई, आम के पांच पत्ते, एक गांठ हल्दी, इन समस्त सामग्री को अपने हाथ में लेकर ॐ ग्रां ग्रीं ग्रौं गुरवे नम: मंत्र का 108 बार जाप करके इन समस्त सामग्रियों को हालिका दहन के दिन अग्नि को समर्पित कर दें। सारी समस्याओं का निवारण हो जाएगा।

  1. पीले कपड़े में7 चुटकी होलिका दहन की राख, तांबे के 7 सिक्के और 11 कौड़ी बांधकर घर, दुकान, व्यापारिक प्रतिष्ठान के मुख्य द्वार पर लटका दें। सारी व्यावसायिक पीड़ाओं से छुटकारा मिलेगा।

  2. मीन राशि के लोग एक बड़े पान का पत्ते लें. इस पर एक मुट्ठी हवन सामग्री, एक हल्दी की गांठ साबुत सुपारी और कपूर रखें. होलिका की 7 परिक्रमा करके अग्नि में डाल दें. शारीरिक कष्ट कम होंगे और मन प्रसन्न रहेगा. पीला या केसरी अबीर अपने गुरु बंधुओं को लगाने से जिंदगी की मुश्किलें खत्म होंगी.

सर्व संकट निवारणार्थ, ग्रहदोष, देवदोष, पितृदोष, परकृत बाधा, व्यापार वृद्धि, ऋणमुक्ति, नवग्रह शान्ति आदि-आदि लौकिक एवं भौतिक समस्याओं के लिए!

अपनी जन्म तिथि, समय और स्थान के आधार पर

निःशुल्क जन्मकुंडली से

भूत, भविष्य, वर्तमान सम्बन्धित प्रश्नों के उत्तर एवं समस्त समस्याओं अधिक जानकारी तथा शंका समाधान हेतु

 फोन / व्हाट्सएप से संपर्क करे: 7620314972

ज्योतिर्विद श्यामा गुरुदेव

(आध्यात्मिक मार्गदर्शक एवं ज्योतिषीय चिंतक)

 

 

This Post Has One Comment

Leave a Reply