ग्रह दोषों से मुक्ति के लिए महाशिवरात्रि में ऐसे करें पूजा Maha Shivaratri 2020:

महाशिवरात्रि के दिन शिव पूजा से सभी मनोकामनाएं पूरी हो सकती हैं। यदि कुंडली में ग्रह दोष हों और कार्यों में परेशानियां आ रही हैं तो राशि अनुसार देवों के देव महादेव के पूजन से सभी कष्टों का अंत होता है। व्यक्ति के जीवन में कई बार ऐसे मौके आते हैं जिसमें वह सबसे ज्यादा परेशान, हताश और दुखी होता है। कठिन मेहनत करने के बाद भी हर बार असफलता हाथ लगती है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जब व्यक्ति की कुंडली में अशुभ योग और ग्रह दोष होता है तो इस तरह की परेशानियां आती हैं। कुंडली दोष से छुटकारा पाने के लिए महाशिवरात्रि का दिन बहुत शुभ माना गया है। इस महाशिवरात्रि, 21 फरवरी को भगवान शिव की पूजा में कुछ बातों का ध्यान रखें तो अशुभ ग्रहों का दोष जल्द ही दूर हो जाता है और अच्छे परिणाम मिलने आरम्भ होने लगते हैं।

-मेष राशि-यदि आपकी राशि मेष है तो आपको महाशिवरात्रि के दिन शिवलिंग पर कच्चा दूध एवं दही चढ़ानी चाहिए।

-वृषभ राशि-

आपको शिवलिंग पर गन्‍ने का रस अर्पित करना चाहिए। इसके बाद उन्‍हें खोए की मिठाई चढ़ाएं और आरती करें।

मिथुन राशि


आपको स्फटिक के शिवलिंग की पूजा करने से लाभ प्राप्‍त होगा।आपको शिवलिंग पर लाल गुलाल, अक्षत, चंदन, ईत्र आदि अर्पित करना चाहिए।

कर्क राशि


आपको शिवलिंग का चंदन और अष्टगंध का अभिषेक करना चाहिए। इसके बाद बेर और आटे से बनी रोटी का भोग लगान चाहिए।

सिंह राशि


शिवलिंग पर फलों का रस और पानी मिला कर चढ़ाना चाहिए। मिठाई चढ़ाएं।

कन्या राशि

इस राशि के जातक शिव जी को बेर, धतूरा, भांग और आंकड़े का फूल चढ़ा सकते हैं। शुभ फल प्राप्‍त करने के लिए उनकी आधी परिक्रमा जरूर करें।

तुला राशि

इस राशि के लोग जल में फूल डाल कर शिव जी को चढ़ाएं। इसके बाद भगवान शिव को गुलाब, चावल, चंदन, बिल्व पत्र और मोगरा चढ़ाएं।

-वृश्चिक राशि

इन्‍हें भोलेनाथ को शुद्ध जल चढ़ाना चाहिए। फिर शहद और घी लगाएं और फिर जल से स्नान करा कर पूजा करें।

-धनु राशि- 

आपको शिवलिंग का श्रृंगार करना चाहिये और फिर उस पर पके चावल लगा कर सूखे मेवे का भोग लगान चाहिये।

-मकर राशि

इस राशि के जातक शिवलिंग पर गेंहू चढ़ाएं और फिर पूजा करें।

-कुंभ राशि

सफेद काला तिल मिला कर शिवलिंग पर चढ़ाएं। साथ ही जल में तिल डाल कर शिवलिंग को स्‍नान करवाएं। 

-मीन राशि –

इस राशि के जातक को रात में पीपल के पेड़ के नीचे बैठ कर पूजा करनी चाहिए। साथ ही शिवलिंग पर चने की दाल चढ़ाएं और पूजा कर दान करें। 

This Post Has One Comment

Leave a Reply