मौनी अमावस्या २४जनवरी २०२० बन रहा बेहद शुभ संयोग मुहूर्त.

Mauni Amavasya 24th January 2020

Mauni Amavasya 24th January 2020-India Astrology Foundation

मौनी अमावस्या 24 जनवरी २०२० बन रहा बेहद शुभ संयोग मुहूर्त इन उपायों से होगी सुख समृद्धि व शांति में वृद्धि

मौनी अमावस्या पर स्नान-दान का विशेष महत्व माना जाता है।इसके अलावा इस दिन कुछ विशेष उपाय करने से व्यक्ति की मनोकामनाएं पूरी होती है और पापों से भी मुक्ति मिलती है। आइए जानते हैं ज्योतिर्विद श्यामा गुरुदेव से ऐसे ही कुछ उपाय…. 

मौनी अमावस्या माघ मास की अमावस्या को पड़ती है और इस साल यह अमावस्या सोमवार, 4 फरवरी के दिन पड़ेगी। इस बार मौनी अमावस्या बहुत अद्भुत संयोगों के साथ आ रही है। क्योंकि इस बार मौनी अमावस्या पर मकर राशि में चार ग्रहों की युति बन रही है जो की बहुत ही शुभ फलदायी मानी जाएगी। ज्योतिर्विद श्यामा गुरुदेव के अनुसार इस बार मौनी अमावस्या का अमृतमय स्नान मकर राशि में सूर्य, चन्द्र, बुध, केतु, इन चारों ग्रहों के सानिध्य में होगा।

  1. यदि आपको बहुत मानसिक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है तो आप मौनी अमावस्या के दिन दूध में अपनी छाया देखकर काले कुत्ते को पिलाएं। आपको लाभ होगा।

  2. घर-परिवार में सुख-शांति बनाए रखने के लिए अमावस्या के दिन गाय को आटे में तिल मिलाकर रोटी बनाएं और वह गाय को खिला दें। ऐसा करने से घर परिवार में शांति बनी रहेगी।

  3. माघ मास में तिल के दान का महत्व अधिक होने से चतुर्दशी और अमावस्या की तिथि विशेष मानी गई है। पितरों की प्रसन्नता, सद्‌गति तथा पदवृद्धि के लिए काले तिल से तर्पण करना विशेष लाभदायी रहता है।

  4. लक्ष्मी जी को प्रसन्न करने के लिए मौनी अमावस्या के दिन शाम के समय घर के ईशान कोण में गाय के घी का दीपक लगाएं। बत्ती में रूई के स्थान पर लाल रंग के धागे का उपयोग करें। साथ ही दीये में थोड़ी-सी केसर भी डाल दें।

  5. लक्ष्मी जी, शिव परिवार को चावल की खीर अर्पित करें धन-संपत्ती से भंडार भरेंगे।

  6. अमावस्या के दिन चींटियों को शकर मिला हुआ आटा खिलाएं। इससे आपके पाप-कर्मों का खात्मा होगा और पुण्य-कर्म उदय होंगे। यही पुण्य-कर्म आपकी मनोकामना पूर्ति में सहायक होंगे।

  7. मौनी सोमवती अमावस्या के दिन सूखे कुएं में दूध बहाएं, सेहत ठीक रहेगी। रोग कोसों दूर रहेंगे।

  8. इस दिन सुबह स्नान आदि करने के बाद आटे की गोलियां बनाएं। गोलियां बनाते समय भगवान का नाम लेते रहें। इसके बाद समीप स्थित किसी तालाब या नदी में जाकर ये आटे की गोलियां मछलियों को खिला दें। इस उपाय से आपके जीवन की अनेक परेशानियों का अंत हो सकता है।

तंत्र शास्त्र में मौनी अमावस्या यानी माघ कृष्ण अमावस्या को विशेष तिथि माना गया है। इस संबंध में मान्यता है कि इस दिन किए गए उपाय विशेष ही शुभ फल प्रदान करते हैं, जैसे इस दिन भूखे प्राणियों को भोजन कराने का भी विशेष महत्व है।

माघी अमावस्या शुभ संयोग 2020 MAGHI AMAVASYA SHUBH SANYOG 2020

मौनी अमावस्या व्रत तिथि शुभ मुहूर्त २०२० MAUNI AMAVASYA DATE TIMING 2020

इस दिन पवित्र संगम में स्नान का बड़ा महत्व है. मौनी अमावस्या के दिन मौन व्रत धारण कर मन को संयमित करके काम, क्रोध, लोभ, मोह आदि से दूर रखना चाहिए। वर्ष 2020 में मौनी अमावस्या का व्रत 24 जनवरी शुक्रवार के दिन रखा जाएगा है। इस दिन शुक्रवार और साल के सबसे बड़े राशि परिवर्तन का संयोग बनेगा जो बेहद ख़ास होगा आज हम आपको 2020 मौनी अमावस्या व्रत तिथि शुभ मुहूर्त पूजा विधि और इस दिन बन रहे शुभ संयोग के बारे में बताएँगे……………..

शुभ संयोग

ज्योतिष की दृस्टि से देखे तो शनि का राशि परिवर्तन बहुत ही खास माना जाता है क्योकि अन्य ग्रहो की अपेक्षा शनि एक ऐसा ग्रह है जो सबसे देर में अपनी राशि बदलते है जिस कारण इसका प्रभाव लम्बे समय तक रहता है साल 2020 में 24 जनवरी शुक्रवार के दिन मौनी अमावस्या के मौके पर शनि करीब ढाई साल बाद अपनी ही राशि मकर राशि में प्रवेश करेंगे और अगले ढाई साल तक इसी राशि में रहेंगे शास्त्रों के अनुसार इस शुभ संयोग में किये गए दान पुण्य और विशेष उपायों के प्रभाव से व्यक्ति बिगड़े हुए काम भी बन जाते है.

  1. साल 2020 में मौनी अमावस्या का व्रत 24 जनवरी शुक्रवार के दिन रखा जाएगा|

  2. अमावस्या तिथि शुरू होगी – 24 जनवरी शुक्रवार प्रातकाल 02:17 मिनट पर |

  3. अमावस्या तिथि समाप्त होगी – 25 जनवरी शनिवार प्रातःकाल 03:11 मिनट पर |

शनि 24 जनवरी को धनु राशि से अपनी स्वराशि मकर में प्रवेश करेंगे. बड़े संयोग की बात है कि मौनी अमावस्या भी इसी दिन पड़ रही है. शनि और अमावस्या का रिश्ता बहुत पुराना है. ज्योतिषी की मानें तो करीब 150 साल बाद ऐसा संयोग बन रहा है. शनि का असर एक राशि में करीब ढाई साल तक रहता है. आइए ज्योतिर्विद श्यामा गुरुदेव से जानते हैं यह शनि गोचर किन राशि के जातकों को मालामाल करेगा और किन्हें कंगाल बनाएगा.

Next PostRead more articles

Leave a Reply