Pitru Paksha 2020 will begin on Tuesday, 1 September and end .. Hindus are bound by their Dharma, or religion, to pray for the souls of their ancestors. It’s a debt they must pay to stay happy. During Pitru Paksha or Shraadh, a 16-lunar-day period in the Hindu calendar which starts this year on September 1, people offer prayers, food and water to their ancestors.

Pitru Paksha rules| Pitru Paksha 2020 Shradh rules: Check out the dos and don’ts.
पितृ पक्ष के दौरान दिवंगत पूर्वजों की आत्मा की शांति के लिए श्राद्ध (Shradh) किया जाता है. माना जाता है कि यदि पितर नाराज हो जाएं तो व्यक्ति का जीवन भी परेशानियों और तरह-तरह की समस्याओं में पड़ जाता है और खुशहाल जीवन खत्म हो जाता है. साथ ही घर में भी अशांती फैलती है और व्यापार और गृहस्थी में भी हानी होती है. ऐसे में पितरों को तृप्त करना और उनकी आत्मा की शांति के लिए पितृ पक्ष में श्राद्ध (Pitru Paksha Shraddha) करना बेहद आवश्यक माना जाता है.

Leave a Reply