Shani Ki Sade Sati, Dhaiya 2020-में इन 9 राशियों पर शनि की साढ़ेसाती और ढैया का प्रभाव, जानें आप पर क्या होगा असर…| Jyotirvidh Shyama Gurudev

2020 में इन 9 राशियों पर शनि की साढ़ेसाती और ढैया, ये उपाय करेगा रक्षा

इस साल माघ अमावस्या के दिन यानी 24 जनवरी को शनि महाराज अपनी पहली राशि मकर में प्रवेश करेंगे। शनि के इस राशि परिवर्तन के साथ ही कई लोगों की ढैय्या और साढ़ेसाती समाप्त हो जाएगी तो कुछ लोग इसके प्रभाव में आ जाएंगे। लेकिन ऐसा नहीं है कि साढ़ेसाती उतरी और आपके बहुत अच्छे दिन शुरू हो गए। शनि महाराज को सभी ग्रहों में धीमी चाल से चलने वाला माना जाता है इसलिए इनका अच्छा और बुरा प्रभाव आने जाने में कुछ वक्त लगता है।

 

ऐसे में 24 जनवरी 2020 की दोपहर 12 बजकर 4 मिनट पर जब शनि अपनी ही राशि मकर में जाएंगे तो कुछ लोग नाचेंगे, मुस्कुराएंगे और कुछ बेचैन नजर आ सकते हैं।

साल 2020 में इन 9 राशि के जातकों की कुंडली में शनि की साढ़ेसाती एवं शनि की ढैया रहेगी। इस कारण इन राशियों के जातकों के जीवन में बहुत कुछ बदलाव भी दिखाई देंगे। जानें वे कौन-कौन सी राशियां है जिन पर शनि की साढ़ेसाती एवं शनि की ढैया रहेगा और इनके क्या प्रभाव होंगे ?

इन राशियों पर होगी शनि की साढ़ेसाती

– वृश्चिक राशि – 

  • वृश्चिक राशि पर उतरती हुई शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव पैर पर रहेगा, जब शनि अपनी ही राशि मकर में प्रवेश करेंगे, तो वृश्चिक राशि के लोगों पर इसका यह असर होगा कि ये लोग साढ़ेसाती से मुक्ति का जश्न मनाते नजर आएंगे। लौह पाद का तीसरा शनि करियर को नया आसमान और जीवन को नयी उड़ान देता है।

इस राशि के जातकों को सपलता, व्यापार में लाभ, प्रगति, अचानक लाभ, स्वास्थ्य लाभ, मांगलिक कार्य, मुकदमों में सफलता एवं रूके कार्य पूरे होंगे। इसके साथ अग्नि से डर, मित्रों से हानि हो सकती है, इनसे सावधान रहे।

                                                                                                             

-धनु राशि-

  •  इस राशि के जातकों पर शनि का प्रभाव हृदय पर रहेगा। तकरीबन पौने 5 वर्षों का कष्ट अब ढलान पर है। जब शनि अपनी ही राशि मकर में जाएंगे, तब इस राशि के लोग साढ़ेसाती के अंतिम चरण में प्रवेश करेंगे। स्वर्ण पाद का दूसरा शनि देश-विदेश की सैर कराने के साथ खर्च में बढ़ोतरी कराएगा। थोड़ी परेशानी के बाद व्यापार में अच्छा लाभ मिलेगा, धन-धान्य, सम्पत्ति का लाभ। साथ ही घरेलू झंझटे व तनाव भी हो सकता है। नये साल में धनु राशि में 23 जनवरी 2020 तक शनि की साढ़ेसाती रहेगी।

 

– मकर राशि –

  • 23 जनवरी 2020 से मकर राशि में शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव सिर के उपर रहेगा। पूरे साल इनकों अधिक परिश्रम करना पड़ेगा एवं भूमि संबंधित कोई विवाद भी हो सकता है।

शनि के मकर में प्रवेश के कारण मकर राशि वालों को स्वर्ण पाद का प्रथम शनि शारीरिक कष्ट दे सकता है इसके अलावा मकर राशि के जातकों के लिए यह परिवर्तन शिक्षा और अनुभवों से भविष्य के सम्मान की पृष्ठभूमि बनाने वाला साबित हो सकता है।

 

 – कुंभ राशि –

 

 

  • 23 जनवरी 2020 से कुंभ राशि में शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव सिर पर रहेगा, जिस कारण कुंभ राशि के जातकों को थोड़ी बहुत चिंता हो सकती है। शनि के इस परिवर्तन से कुंभ राशि के लोगों पर शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव पड़ सकता है।

  रजत पाद का द्वादश शनि आर्थिक रूप से कुछ कमी देता हुआ प्रतीत होता है लेकिन इस दौरान किए गए सत्कर्मों से आनन्द भी प्रदान करेगा।लेकिन परिश्रम के साथ सफलता, हर क्षेत्र में लाभ के साथ सभी यात्राएं लाभकारी होगी।

इन राशियों पर शनि की ढैय्या का प्रभाव

– वृषभ राशि –

  • इस राशि पर 23 जनवरी 2020 तक शनि की ढैया का प्रभाव रहेगा, जिस कारण इस राशि वालों को निजी लोगों से धोखा, यात्रा में कष्ट एवं व्यवसाय में कुछ परेशानियां आ सकती है। हालांकिशनि का मकर में प्रवेश वृष राशि के लिए नए रिकॉर्ड बनाएगा। वृष राशि के जातकों का सूरज चढ़ेगा। इस राशि के लोग प्रसन्नचित्त नजर आएंगे। ये लोग राहत की सांस लेंगे। स्वर्ण चरण का नौवां शनि थोड़ी आर्थिक उलझन के बाद लाभ प्रदान करेगा।

 – मिथुन राशि –

  • 23 जनवरी 2020 से शनि की ढैया का प्रभाव प्रारंभ होगा, जिस कारण फिजूल खर्च, ग्रह क्लेश, गलत निर्णय, अधिकारियों से कष्ट के साथ कानूनी अड़चने भी आ सकती है।

 शनि के इस गृह परिवर्तन से मिथुन राशि के लोग कुछ परेशान नजर आ सकते हैं। रजत चरण का अष्टम शनि आर्थिक तनाव के साथ शारीरिक परेशानियों की पृष्ठभूमि तैयार कर सकता है। माता-पिता को कष्ट से तनाव बनने की आशंका है।

 

– तुला राशि –

  • 23 जनवरी 2020 से शनि की ढैया का प्रभाव प्रारंभ होगा, जिस कारण इस राशि वालो अत्यधिक लाभ मिलेगा। रूकी हुई पदोन्नति होगी, व्यापार में सफलता, संतान संबंधित सुख, शादी-विवाह, भूमि,-भवन का सुख मिलेगा।

मकर के शनि में तुला राशि के लोग चैन और बेचैनी दोनों का लुत्फ उठाएंगे। रजत पाद का तीसरा शनि तुला राशि वालों के लिए समृद्धिकारक होगा, जो लाभ भी पहुंचाएगा और जीवनसाथी-परिजनों से विवाद का भी संकेत देता है।

 

– कन्या राशि –

  • शनि की ढैया का प्रभाव 23 जनवरी 2020 तक रहेगा। लेकिन इस राशि वालों को पूरे साल हर क्षेत्र में आर्थिक लाभ मिलता रहेगा।जब शनि अपनी ही राशि मकर में जाएंगे तो जोश में आएंगे और कन्या राशि के लोग शनि की ढैय्या से मुक्त हो जाएंगे। रजत पाद का पंचम शनि मिश्रित फल देता है। कोई अच्छी खबर दिल खुश कर जाएगी। शारीरिक परेशानियों से राहत मिलने की संभावना है।

 

 

शनिदेव के गुस्से से बचा सकते हैं ये उपाय, आप भी आजमाकर देखिए

शनि की साड़े साती और ढैया के अशुभ प्रभावों से बचने के लिए करें ये उपाय

  • प्रति शनिवार को तेल में मुँह देखकर उस तेल का दान किसी मंदिर या गरीब को कर दे।

  • शनिवार के दिन घोड़े के नाल की अंगूठी शनिवार को बनाकर, उसी दिन अभिमंत्रित करके पहन लें।

  • दक्षिण मुखी हनुमान मंदिर में हर रोज श्री हनुमान चालीसा का पाठ करके सात बार परिक्रमा करें।

  • शनिवार को पीपल पेड़ पर जल चढ़ाकर, दीपक जलावें एवं सात परिक्रमा करें।

  • इस मंत्र का जप करने से शनि के अशुभ प्रभाव कम होने लगते हैं- “ऊँ शं शनैश्चराय नमः”।

जीवन में उन्नति और प्रगति के लिए मीठी वाणी, उत्तम आचरण, क्षमा और धैर्य के साथ सही दिशा में सतत सही कर्म की दरकार है। कोई रत्न आप के कर्म और श्रम का स्थान ले लेंगे, ये सोच सही नहीं है। सनद रहे कि अपनी योग्यता में वृद्धिकर, अपनी कुशलता को संवारकर, सही दिशा में सतत सटीक कर्म का कोई विकल्प नहीं है।

In a way, it's easiest to interpret Saturn because its results are always getting to bring challenges, difficulties and hardships to people. In signs like Aries, Cancer, Leo and Scorpio, it can become tougher but it can never subsided challenging or convenient for us.
Next PostRead more articles

Leave a Reply