SHRAPIT YOGA DUSHPRABHAV

शनि-चांडाल योग
शनि के साथ राहू या केतु हो तो इसे शनि चांडाल योग कहते है. इस युति को
श्रापित योग भी कहा जाता है. यह चांडाल योग भौम चांडाल योग जेसा ही अशुभ फलदेता है. जातक झगढ़ाखोर स्वार्थी और मुर्ख होता है. ऐसे जातक की वाणी और
व्यव्हार में विवेक नहीं होता. यह योग अकस्मात् मृत्यु की तरफ भी इशारा
करता है.

Leave a Reply