वर्ष का पहला सूर्य ग्रहण 21 जून 2020 को, जानिए- आपकी राशि पर सूर्य ग्रहण का कैसा पड़ेगा असर? India Astrology Foundation

सूर्य ग्रहण,सूर्य ग्रहण 2020,सूर्य ग्रहण इन 6 राशियों के लिए अशुभ, lal kitab remedy, eclipse remedy, astrology, लाल किताब उपाय, ग्रहण उपाय, ज्योतिष, grahan in june 2020, surya grahan in june 2020, surya grahan in 2020, grahan in 2020, 21 june 2020 surya grahan, june 21 2020, grahan 21 june 2020, june 21 surya grahan,

21 जून 2020 का पहला सूर्य ग्रहण विनाशकारी होगा ?

21 जून 2020 के पहले सूर्य ग्रहण का असर व्यापक और संवेदनशील होगाl  अपने देश में दिखाई देने के कारण इस ग्रहण का सूतक भी मान्य रहेगा l

दिसंबर 2019 के बाद करीब 6 महीने के अंतराल पर इस महीने में सूर्यग्रहण भी लगने जा रहा है। इस ग्रहण का भारत सहित दुनिया के कई देशों पर प्रभाव नजर आएगा।

कई ज्योतिषी ऐसी भविष्यवाणी कर रहे हैं कि सूर्य ग्रहण से शुरू हुआ कोरोना सूर्य ग्रहण से समाप्त होगा। 5 जून से 5 जुलाई के बीच लगने जा रहे 3 ग्रहण का कैसा रहेगा ग्रहण पर पाप ग्रह का प्रभाव मेदिनी ज्योतिष में ग्रहण के समय बनने वाली ग्रह स्थिति से आने वाले 3 से 6 महीनों के राजनीतिक, सामाजिक, आर्थिक और मौसम संबंधी भविष्यवाणियां करने की भारत में सदियों पुरानी परंपरा रही है।

इसमें बताया गया है कि जब भी किसी एक महीने में दो से अधिक ग्रहण पड़े और पाप ग्रहों का भी उस पर प्रभाव रहे तो वह समय जनता के लिए कष्टकारी होगा।

जून जुलाई में लगने जा रहे सूर्य और चंद्र ग्रहणइस वर्ष आषाढ़ के महीने में 6 जून से 5 जुलाई के बीच तीन ग्रहण लगने जा रहे हैं। इनमें से दो ग्रहण भारत में दृश्य होंगे। 5/6 जून को लगने वाला चंद्र ग्रहण यूरोप, भारत सहित एशिया, अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया में भी दिखाई देगा। 21 जून को पड़ने वाला सूर्य ग्रहण भारत सहित एशिया के कई दूसरे राज्यों, यूरोप और अफ्रीका में भी दिखेगा।ग्रहण इनके लिए रहेगा बेहद अशुभइसके बाद 4/5 जुलाई को लगने जा रहा चंद्र ग्रहण अफ्रीका और अमेरिका में नजर आएगा। इन तीनों ग्रहणों में से पहले दो ग्रहण, जो कि आषाढ़ कृष्ण पक्ष में पड़ेंगे, वह भारत में दृश्य होंगे। अंतिम ग्रहण जो कि आषाढ़ शुक्ल पक्ष में है वह भारत में दिखाई नहीं देगा।

इन ग्रहणों का मिथुन और धनु राशि के अक्ष को पीड़ित करना अमेरिका और पश्चिम के देशों के लिए विशेष रूप से अशुभ होगा। 21 जून को सूर्य ग्रहण के समय 6 बड़े ग्रह रहेंगे वक्री भारत और विश्व के लिए 21 जून का सूर्य ग्रहण बेहद संवेदनशील है। मिथुन राशि में होने जा रहे इस ग्रहण के समय मंगल जलीय राशि मीन में स्थित होकर सूर्य, बुध, चंद्रमा और राहु को देखेंगे जिससे अशुभ स्थिति का निर्माण होगा। इसके अलावा ग्रहण के समय 6 ग्रह शनि, गुरु, शुक्र और बुध वक्री होंगे। राहु केतु हमेश वक्री चलते हैं इसलिए इनको मिलाकर कुल 6 ग्रह वक्री रहेंगे, जो शुभ फलदायी नहीं है।

इस स्थिति में संपूर्ण विश्व में बड़ी उथल-पुथल मचेगी।

————————————————————–

प्राकृतिक आपदा से परेशानी

ग्रहण के समय इन बड़े ग्रहों का वक्री होना प्राकृतिक आपदाओं जैसे अत्यधिक वर्षा, समुद्री चक्रवात, तूफान, महामारी आदि से जन-धन की हानि कर सकता है। भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश और श्रीलंका को जून के अंतिम सप्ताह और जुलाई में भयंकर वर्षा एवं बाढ़ से जूझना पड़ सकता है। ऐसे में महामारी और भोजन का संकट इन देशों में कई स्थानों पर हो सकता है।

पश्चिमी देशों में बढ़ेगा तनाव

इस वर्ष मंगल जल तत्व की राशि मीन में पांच माह तक रहेंगे ऐसे में वर्षा काल में आसामान्य रूप से अत्यधिक वर्षा और महामारी का भय रहेगा। ग्रहण के समय शनि और गुरु का मकर राशि में वक्री होना इस बात की आशंका को जन्म दे रहा है कि चीन के साथ पश्चिमी देशों के संबंध बेहद खराब हो सकते हैं।

आर्थिक मंदी का असर

भारत के पश्चिमी हिस्सों में पाकिस्तान, अफगानिस्तान और ईरान में राजनीतिक उठा-पटक चिंता का कारण बनेगी तथा हिंद महासागर में चीन की गतिविधयों से तनाव बढ़ेगा। शनि, मंगल और गुरु इन तीनों ग्रहों के प्रभाव से विश्व में आर्थिक मंदी का असर एक वर्ष तक बना रहेगा।

ग्रहण और  सूतक का समय

21 जून 2020, रविवार आषाढ़ कृष्ण अमावस्या के दिन सूर्यग्रहण भारत में खंडग्रास के रूप में दिखाई देगा। भारत में सूर्यग्रहण का प्रारंभ सुबह 10 बजकर 13 मिनट 52 सेकंड दिन से दोपहर 1 बजकर 29 मिनट 52 सेकंड तक रहेगा।

भारत के अलावा यह खंडग्रास सूर्यग्रहण विदेश के कुछ क्षेत्रों में दिखाई देगा।

ग्रहण का स्पर्श 10.13.52 सुबह,

ग्रहण का मध्य 11.56 एवं

ग्रहण का मोक्ष दोपहर 1 बजकर 30 मिनट और 52 सेकंड में होगा।

जिसका सूतक 20 जून को रात 10:20 से ही शुरू हो जाएगा।

सूतक काल में बालक, वृद्ध एवं रोगी को छोड़कर अन्य किसी को भोजन नहीं करना चाहिए। इस दौरान खाद्य पदार्थो में तुलसी दल या कुशा रखनी चाहिए। गर्भवती महिलाओं को खासतौर से सावधानी रखनी चाहिए।

ग्रहण काल में सोना और भोजन नहीं करना  चाहिए। चाकू, छुरी से सब्जी,फल आदि काटना भी निषिद्ध माना गया है।

ग्रहण का फल

सूर्य ग्रहण 21 जून 2020 राशिफल: जानें जन्मतिथि के अनुसार आपके जीवन में क्या होगा ग्रहण का असर

सूर्य ग्रहण 21 जून 2020 राशिफल: जानें जन्मतिथि के अनुसार आपके जीवन में क्या होगा ग्रहण का असर

इस सूर्य ग्रहण का प्रभाव हर जन्मांक (आपके जन्म के तारीख की तिथि का इकाई में योग जैसे 12 मार्च जन्म की तिथि है तो आपका जन्मांक 3 हुआ) के व्यक्तियों में अलग अलग होगा कुछ के लिए शुभ फल देगा कुछ लोगों को परेशान करने वाला होगा।

Add Your Heading Text Here

जन्मांक 1 (1, 10, 19 एवं 28 तारीख को जन्में व्यक्ति):

जन्मांक 1 वालो के लिए यह सूर्य ग्रहण उनके धन के आय को बढ़ाएगा। सूर्य ग्रहण के प्रभाव से आय के नए अवसर बनेंगे। किसी जॉब के लिए किए जा रहे प्रयास में सफलता मिलेगी आपकी स्थिति समाज में मजबूत होगी। लोगों में लोकप्रियता बढ़ेगी।

 

जन्मांक 2(  2, 11, 20 एवं  29 तारीख को जन्में व्यक्ति):


जन्मांक 2 वालो के लिए यह सलाह है की निवेश सोच समझ कर करें। पैसे की अचानक जरुरत पड़ सकती है। स्वास्थ्य पर ध्यान दें। किसी प्रकार की यात्रा यदि करनी हो तो पूरी सावधानी बरतें। बैंक से लोन आदि सोच समझ कर ही लें। खर्चे बढ़ेंगे अतःसोच समझकर करें।

जन्मांक 3 (3, 12, 21 एवं 30 तारीख को जन्में व्यक्ति): 


आपको कार्यस्थल पर नयी जिम्मेदारी मिल सकती है. आपकी प्रसंशा होगी। कुछ पुराने मित्रों से फिर से जुड़ाव होगा। आप अपने आपको स्थापित करने में सफल होंगे। यह सूर्य ग्रहण आपको नया आयाम देगा किन्तु स्वास्थ्य के प्रति विशेष ध्यान दें समस्या हो सकती है।


जन्मांक 4 (4, 13, 22 एवं 31 तारीख को जन्में व्यक्ति):


यह सूर्य ग्रहण शुभ होगा. धन लाभ होगा। कार्यस्थल पर प्रभाव में वृद्धि होगी। अचानक आय के नए श्रोत सामने आएंगे। जमीन जायदाद के मामले में फैसला आपके पक्ष में होगा। आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। राजनीति से जुड़े लोगों  का पराक्रम बढ़ेगा।


जन्मांक 5 (5, 14 एवं 23 तारीख को जन्में व्यक्ति).


आपको खर्चो में कमी करनी चाहिए पैसे की जरुरत पर सकती है। स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान दें। खास कर स्वास से सम्बंधित कोई समस्या हो तो ध्यान रखें। आय में कमी हो सकती है। प्रेम सम्बन्ध में कटुता आएगी। कार्यस्थल पर वाद विवाद हो सकता है। ध्यान रखें।


जन्मांक 6 (6, 15 एवं 24 तारीख को जन्में व्यक्ति):


आपके लिए सूर्य ग्रहण का प्रभाव शुभ होगा। आने वाले समय में नए अवसर प्राप्त होंगे। स्वास्थ्य को लेकर सचेत रहने की जरूरत है। कमर से ऊपर स्वास्थ्य से सम्बंधित समस्या हो सकती है। पिता का स्नेह प्राप्त होगा। कुल मिलाकर आपके लिए शुभ प्रभाव होगा।


जन्मांक 7(7, 1 6एवं 25 तारीख को जन्में व्यक्ति):


जन्मांक सात के लोगों को संघर्ष करना पड़ सकता है। स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहें। धन की हानि हो सकती हैं अतः सोच विचार के ही पैसा लगाएं। किसी खास से मन मुटाव हो सकता है और रिश्ते टूट सकते हैं। परिवार के लोगों पर ध्यान दें और कड़वा ना बोले।

जन्मांक 8(8, 17 एवं 26 तारीख को जन्में व्यक्ति):


सूर्य ग्रहण का प्रभाव आपके वित्तीय स्थिति पर ठीक रहेगा स्वास्थ्य ठीक रहेगा किन्तु किसी प्रकार के दिक्कत होने पर इलाज में विलम्ब ना करें। प्रेम सम्बन्ध में कटुता आएगी और टूट भी सकती है।अतः आप धैर्य और सावधानी से काम करें. अपनी वाणी पर नियंत्रण रखें।


जन्मांक 9(9, 18 एवं 27 तारीख को जन्में व्यक्ति):


यह सूर्य ग्रहण आपको सहयोग करेगा। इसका प्रभाव आपके संतान, संवाद और पराक्रम पर पड़ेगा। संतान पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है.वरीय अधिकारीयों या जिन लोगोंं से प्रोफेशनल सम्बन्ध है उनसे संवाद बनाए रखें। आपके लिए इस ग्रहण का प्रभाव शुभ रहेगा।

12 राशियों पर कैसा रहेगा इस सूर्य ग्रहण का असर

मेष राशि

 मेष राशि के लोगों को इस सूर्यग्रहण से लाभ होता दिखाई दे रहा है. इस राशि वालों को इस दौरान धन, पद और सम्मान की प्राप्ति होगी.

वृषभ राशि

इस सूर्यग्रहण का सबसे अधिक प्रभाव वृषभ राशि वालों पर पड़ने की संभावना है. इस राशि वालों के लिए यह सूर्यग्रहण आर्थिक और नौकरी के क्षेत्र में परेशानी पैदा करेगा. आपकी राशि के लोगों के लिए सूर्य ग्रहण आर्थिक तौर पर और नौकरी के क्षेत्र में परेशानी पैदा कर सकता है। इसलिए आपको थोड़ा सा सावधान रहने की जरूरत है। सूर्य ग्रहण आपकी राशि के द्वितीय भाव में होने जा रहा है। द्वितीय भाव पैसे और परिवार का भाव माना जाता है। इस वक्‍त आपका खर्च भी काफी बढ़ जाएगा। आपको खर्च पर लगाम लेने की जरूरत है। परिवार के ऊपर होने वाले खर्च में भी कमी आएगी। फालतू खर्च पर सभी को लगाम देने की जरूरत है। अगर आपको आंख में किसी प्रकार की परेशानी हो तो सावधान रहने की जरूरत है।

मिथुन राशि– 

ऐसे लोग जिनकी राशि मिथुन है उनके लिए भी यह सूर्यग्रहण अच्छा नहीं है. मिथुन राशि के लोगों को वाहन दुर्घटना और वाद-विवाद जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है. मिथनु राशि वालों लिए यह सूर्य ग्रहण अच्‍छा नहीं माना जा रहा है। दरअसल यह सूर्य ग्रहण आपकी ही राशि में लगने जा रहा है इस कारण इसका प्रभाव आपके लिए शुभफलदायी नहीं होगा। इसकी वजह से आपको स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी परेशानी हो सकती है। आपको अपने डॉक्‍टर से सलाह लेनी चाहिए। आपके फेफड़ों में परेशानी हो सकती है। डॉक्‍टर जो आपको सलाह दें आपको उस पर काम करने की जरूरत है। आर्थिक स्‍तर पर आपके लिए सब कुछ अच्‍छा नहीं चलेगा और आपको काफी नुकसान भी हो सकता है।दुर्भाग्‍य नहीं छोड़ रहा है पीछा, इन आसान से उपायों को आजमाकर देखेंकर्कसूर्य ग्रहण आपकी राशि के 12वें भाव पर लगने जा रहा है। 12वां भाव पैसों में नुकसान को दर्शाता है। कर्क राशि वालों पर यह सूर्य ग्रहण भारी पड़ सकता है और आपको इस वक्‍त किसी भूमि या भवन और वाहन के चक्‍कर में नहीं पड़ना चाहिए। आप अपनी सेहत का विशेष रूप से ध्‍यान रखें। कहीं पर पैसा फंसाने से इस वक्‍त आपको अच्‍छा रिटर्न नहीं मिलेगा। आपको इस वक्‍त सेहत के मामले में भी विशेष रूप से सावधान रहने की जरूरत है। फालतू खर्च से आपको बचने की जरूरत है। पैसों के मामले में इस वक्‍त आपको खासा नुकसान हो सकता है।

कर्क राशि– 

कर्क राशि वाले जमीन-जायदाद और वाहन से जुड़े मामले में सावधानी रखें. क्योंकि इससे सम्बंधित विवाद होने की अधिक संभावना है.

सिंह राशि– 

इस राशि के लिए यह समय बहुत अच्छा है. जहां इस राशि वालों के लिए यह समय पैसे के मामले में मजबूत बनाएगा वहीँ इन्हें जीवनसाथी का भी सुख प्राप्त होगा.

कन्या राशि– 

कन्या राशि वाले लोगों के लिए भी यह सूर्यग्रहण लाभदायक साबित होने वाला है. इस राशि के लोगों को इस दौरान शुभ समाचार प्राप्त होने की प्रबल संभावना है.

तुला राशि– 

तुला राशि वालों को यह सलाह है कि वे किसी वाद-विवाद में न पड़कर खुद को शांत रखें.

वृश्चिक राशि– 

इस राशि के लोग जो भी फैसला करें बहुत सोच-समझ कर करें क्योंकि इस राशि के लोगों को किसी चिंता में पड़ने की संभावना है. सूर्य ग्रहण आपकी राशि के 8वें भाव में लगने जा रहा है। जो कि आपकी सेहत के बारे में खतरे की घंटी बजा रहा है। इस वक्‍त वैसे भी आपको हर प्रकार के संक्रमण से बचने की जरूरत है। इस वक्‍त आपको परिवार और पैसों से जुड़े मामलों में भी बहुत सावधान रहने और बेहद सूझबूझ से कार्य करने की जरूरत है। इस वक्‍त कहीं भी निवेश करना आपके लिए अच्‍छा नहीं है। सांस से संबंधित बीमारियों को लेकर भी आपको खासा ध्‍यान देने की जरूरत है। अगर हो सके तो एहतियात के तौर पर अपने डॉक्‍टर से संपर्क करते रहें।

धनु राशि– 

धनु राशि के लोगों को यह सलाह है कि वे अपने जीवनसाथी का ध्यान रखते हुए ही फैसला करें नहीं तो पारिवारिक जीवन को लेकर तनाव हो सकता है. यह सूर्य ग्रहण आपकी राशि के 7वें भाव में लगने जा रहा है। इस वक्‍त आप पिछले सूर्य ग्रहण के कारण पैदा हुई परेशानियों से मुक्‍त हो जाएंगे। इस बार आपको सूर्य ग्रहण की वजह से उतनी परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ेगा। जितना कि पहले करना पड़ा था। आपके वर्क फ्रंट कह की बात करें तो अधिकारियों से आपका विवाद बढ़ सकता है। आपको कुछ अधिक जिम्‍मेदारियां भी पहले से अधिक उठानी पड़ सकती हैं। हालांकि आपको सेहत के मामले में इस वक्‍त पहले की तुलना में अधिक सावधान रहने की जरूरत है।

मकर राशि– 

मकर राशि वालों के लिए यह सूर्यग्रहण कुल मिलाकर शुभ और फलदायी रहने की सम्भावना है.

कुम्भ राशि

इस राशि के लोगों को मानसिक परेशानी हो सकती है और तनाव का सामना भी करना पड़ सकता है. जरूरत पड़ने पर डॉक्टर की सलाह लेना न भूलें. सूर्य ग्रहण आपकी राशि के 5वें भाव में लगने जा रहा है। राशि के लोगों के लिए ग्रहण मानसिक तनाव लेकर आ रहा है। इन लोगों को ध्यान का सहारा लेना चाहिए। ग्रहण के प्रभाव की वजह से आपको किसी रिलेशनशिप में पड़ने से बचना चाहिए। यदि आप पहले से किसी रिलेशनशिप में हैं तो इस वक्‍त आपको तनाव का सामना करना पड़ सकता है। ग्रहण की वजह से आपको पैसों के मामले में इस वक्‍त कोई खास लाभ नहीं मिलने वाला है। हालांकि आपके रोजाना के खर्चों में किसी प्रकार की मुश्किल नहीं होगी। आर्थिक मामलों में आपकी स्थित सही रहेगी।हथेली की इस रेखा से तय होता है आपके अंदर कितनी कामुकता है

मीन राशि- 

मीन राशि वालों के लिए भी यह ग्रहण परेशान करने वाला है. इस दौरान इस राशि वालों के लिए खर्च अधिक रहेगा मतलब आमदनी अठन्नी खर्चा रुपया. इस राशि के लोगों की तबियत खराब हो सकती है और मानसिक तनाव का सामना भी कर पड़ सकता है.  

मेष, सिंह, कन्या और मकर राशि वालों पर ग्रहण अशुभ प्रभाव नहीं रहेगा। जबकि वृष, मिथुन, कर्क, तुला, वृश्चिक, धनु, कुंभ और मीन राशि वाले लोगों को सावधान रहना होगा। इसमें वृश्चिक राशि वालों को विशेष ध्यान रखना होगा। कंकण आकृति ग्रहण होने के साथ ही यह ग्रहण रविवार को होने से और भी प्रभावी हो गया है।

इस सूर्य ग्रहण के दौरान आपको धार्मिक ग्रंथों का पाठ करते हुए खुद को प्रसन्‍नचित अवस्‍था में रखना चाहिए।

रोग शांति के लिए ग्रहणकाल में आपको महामृत्‍युंजय मंत्र का जप करना चाहिए। कांसे की कटोरी में घी भरकर उसमें चांदी का सिक्‍का डालकर अपना मुख देखकर छायापात्र मंत्र पढ़ें। उसके बाद ग्रहण समाप्‍त होने पर वस्‍त्र, फल, और दक्षिणा सहित ब्राह्मण को दान करने से रोग मुक्‍त होते हैं।    

स्नान, दान और मंत्र जाप करना विशेष फलदायी रहेगा।

Grahan Dosha Nivaran Puja, surya Grahan 21June 2020क्या आपकी कुण्डली में ग्रहण योग है ?

अधिक जानकारी के लिए लिंक पर क्लिक करें ।

लाल किताब के अनुसार सूर्यग्रहण के राशि अनुसार विशेष उपाय

surya grahan 21 June 2020,  सूर्य ग्रहण 2020, सूर्य ग्रहण के उपाय, लाल किताब में सूर्य ग्रहण के उपाय-jyotirvidh shyama gurudev

लाल किताब के अनुसार इस दौरान कौनसे विशेष उपाय कर सकते हैं जिससे हमें लाभ मिले। यह उपाय सूर्य ग्रहण वाले और दूसरे दिन भी कर सकते हैं।

मेष और वृश्चिक राशि के लिए

  1. हनुमान चालीसा का पाठ करें।

  2. सफेद या काला सूरमा आंखों में लगाएं।

  3. शुद्ध गुड़ खाएं और खिलाएं।

  4. मसूर की दाल मंदिर में दान करें।

  5. नीम के वृक्ष में जल चढ़ाएं और उसकी पूजा करें।

  6. भाई और मित्रों से संबंध अच्छे रखें। क्रोध न करें।

  7. गुलाबी या लाल चादर पर सोएं। आंत और दांत साफ रखें।

 

वृषभ और तुला राशि के लिए

  1. चांदी का एक सिक्का अपने पास रखें।

  2. शाम को घी का दीपक जलाएं।

  3. सात प्रकार के अनाज और चरी का दान करें।

  4. किसी को अनावश्यक परेशान ना करें और वादा करके मुकरे नहीं।

  5. चाहें तो सफेद वस्त्र का दान करें।

  6. भोजन का कुछ हिस्सा गाय, कौवे, और कुत्ते को दें।

  7. स्वयं को और घर को साफ-सुथरा रखें और साफ कपड़े पहनें।

  8. सुगन्धित इत्र या सेंट का उपयोग करें।

मिथुन और कन्या राशि के लिए

  1. साबूत हरे मूंग का दान करें या बहते जल में बहाएं।

  2. दुर्गा माता की पूजा करें।

  3. बेटी, बहन, साली और बुआ का सम्मान करें।

  4. चमड़े की जैकेट न पहनें, हरे रंग का उपयोग न करें।

  5. तुलसी माता की पूजा करें।

  6. और वादों को निभाएं।

 

कर्क राशि के लिए

  1. खीर बनाकर दूसरों को खिलाएं।

  2. मां के हाथों से चावल या दही खाकर ही किसी यात्रा का प्रारंभ करें।

  3. बड़ के वृक्ष में जल चढ़ाएं और मंदिर में राजमा के बीज रखें।

  4. पानी या दूध को साफ पात्र में सिरहाने रखकर सोएं और सुबह कीकर के वृक्ष की जड़ में डाल दें।

सिंह राशि के लिए

  1. शराब और मांस का सेवन न करें।

  2. किसी से मुफ्त में कुछ न लें।

  3. हनुमान चालीसा का पाठ करें।

  4. रविवार का व्रत रखें और सूर्य को अर्घ्य दें।

  5. मुंह में मीठा डालकर ऊपर से पानी पीकर ही घर से निकलें।

 

धनु और मीन राशि के लिए

  1. झूठ न बोलें। ज्ञान का घमंड न करें।

  2. पीपल में जल चढ़ाएं और केसर का तिलक लगाएं।

  3. गीता का पाठ या कृष्ण नाम जपें।

  4. घर में कर्पूर या गुगल की धूप दें।

  5. पिता, दादा और गुरु का आदर करें और मंदिर में कद्दू का दान करें।

मकर और कुंभ राशि के लिए

  1. हनुमानजी चालीसा का पाठ करें और उन्हें चौला चढ़ाएं।

  2. अंधे-अपंगों, सेवकों और सफाईकर्मियों को दान दें।

  3. भगवान भैरव को कच्चा दूध चढ़ाएं।

  4. आंत और दांत साफ रखें और काली चीटिंयों को अन्न खिलाएं।

  5. तिल, उड़द, लोहा, तेल, काला वस्त्र, या जूता दान करें।

  6. कौवे को प्रतिदिन रोटी खिलावे।

Next PostRead more articles

Leave a Reply