1) मनुष्य शारिरिक रूप से बीमार रहने लगता है। 2) मनुष्य का व्यवसाय बनता बिगडता रहता है। 3) मनुष्य के कार्य में भारी रूकावटे आने लगती है। 4) आत्मा अशांत रहती है। मनुष्य काल का ग्रास बन जाता है।

Leave a Reply