आपकी कुंडली में विषयोग है या नहीं ? India Astrology Foundation पर इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से परामर्श लें।Call 7620314972

जन्मकुंडली में इस योग के कारण व्यक्ति का मन दुखी रहता है, परिजनों के निकट होने पर भी उसे अकेलापन महसूस होता है, जीवन में सच्चे प्रेम की कमी रहती है, माता प्यापर चाहकर भी नहीं मिल पाता या अपनी ही कमी के कारण वह ले नहीं पाता है। जातक गहरी निराशा में डूबा रहता है, मन कुंठित रहता है। माता के सुख में कमी के कारण व्यक्ति उदास रहता है।

Leave a Reply