" /> Astrology | India Astrology Foundation | With Best Astrologer in India, Discover yourself and realize your full potential Get a Online Horoscope Services...

ठगी का प्रयोग – काल सर्पयोग

अब आप ध्यान दे कि राहु-केतु के मध्य ग्रहों का आना यह मेदनिय ज्योतिष का एक विशेष योग है जो कि राष्ट्र भविष्य के हेतु बनाया गया विचारणीय योग है।…

Continue Reading

कुंडली में विष-योग होता है अति अनिष्टकारी, जानें कारण व निवारण…

क्या आपके बने-बनाये कार्य बिगड़ रहे हैं ? सावधान विष योग से…………. मृत्युतुल्य कष्ट देता है विष-योग, सही समय पर करें उसका निवारण... कुंडली में अति अनिष्टकारी होता है -…

Continue Reading

ग्रह दोषों से मुक्ति के लिए महाशिवरात्रि में ऐसे करें पूजा Maha Shivaratri 2020:

महाशिवरात्रि के दिन शिव पूजा से सभी मनोकामनाएं पूरी हो सकती हैं। यदि कुंडली में ग्रह दोष हों और कार्यों में परेशानियां आ रही हैं तो राशि अनुसार देवों के…

Continue Reading

घर पर कैसे करें महाशिवरात्रि का पूजन, जानें सरलतम विधि-21 February 2020

Mahashivratri 21st February 2020 शिवरात्रि पर कुछ लोग मंदिर में तो कुछ घर पर ही विधि-विधान से पूजा करना पसंद करते हैं। इस दिन भीड़ के कारण मंदिर में विधि-विधान…

Continue Reading

क्या आपकी कुंडली में है यह श्रापित योग, पढ़ें विशेष जानकारी

SHRAPIT YOGA IN HOROSCOPE किसी भी जातक की कुंडली में मौजूद योग, उसके जीवन की दिशा और भविष्य तय करने में सक्षम होते हैं। इनमें से कुछ शुभ होते हैं…

Continue Reading

आपकी कुंडली में रिश्तेदारों से कष्ट प्राप्ति का ये योग तो नहीं

conspiracy yoga in horoscope जिस प्रकार दो तत्वों के मेल से योग बनता है, उसी प्रकार दो ग्रहों के मेल से योग का निर्माण होता है। ग्रह योग बनने के…

Continue Reading

ईश्वर सर्वशक्तिमान है। ग्रह-नक्षत्र और देवी-देवता सभी उसके अधीन है।

ईश्वर सर्वशक्तिमान है। ग्रह-नक्षत्र और देवी-देवता सभी उसके अधीन है। ईश्वर के बाद ईश्वर की प्रकृति महत्वपूर्ण है। जिस प्रकार प्रकृति ने रोग, शोक या अन्य घटना, दुर्घटना को प्रदान किया…

Continue Reading

क्या आप जीवन में संघर्ष,असफलता और निराशा से ग्रस्त है। कुंडली में हो सकता है ग्रहण योग,

क्या आपकी कुण्डली में ग्रहण योग है ? मनुष्य का जीवन चक्र ग्रहों की गति और चाल पर निर्भर करता है. ज्योतिष शास्त्र इन्हीं ग्रहों के माध्य से जीवन की…

Continue Reading

कुंभ,मिथुन और तुला राशि के लोगो के लिए यह सिद्ध उपाय किसी वरदान से कम नहीं है।

वर्तमान समय में शनि के मकर राशि में परिवर्तन होने से कुंभ राशि वाले लोगों पर शनि की साढ़ेसाती और मिथुन और तुला राशि के जातक शनि की ढैय्या के प्रभाव में आ जाएंगे। सामान्यत: साढ़ेसाती और ढैय्या के समय अधिकांश व्यक्तियों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इनसे बचने के लिए सबसे जरूरी है कि शनि देव की आराधना और धार्मिक कर्म करें।

Continue Reading
Close Menu