Kundli TV, lamp, silver Deepak, ceramic Deepak, Deepak, lamp, copper Deepak, brass Deepak, house, cows ghee, sesame oil, Mahu oil,deepak, puja, prosperity,pitra dosha nivaran,

“दीपक कई प्रकार के होते हैं, जैसे चांदी के दीपक, मिट्टी के दीपक, लोहे के दीपक, तांबे के दीपक, पीतल की धातु से बने हुए दीपक तथा आटे से बनाए हुए दीपक। ज्यादातर मिट्टी के दीपक ही जलाने का प्रचलन है जो एक दीपक दूर करेगा दुख-दरिद्रता और दुर्भाग्य
दीपज्योति: परब्रह्म: दीपज्योति: जनार्दन:. दीपोहरतिमे पापम संध्यादीपम नामोस्तुते॥ ज्योतिषशास्त्र में ऐसी परंपराएं चली आ रही हैं, जिनके पीछे तात्त्विक व वैज्ञानिक रहस्य छिपा है. भारतीय संस्कृति में दीप प्रज्जवलित कर ज्योत जलाने का बड़ा महत्त्व है. दीपक के बगैर हर शुभ काम अधूरा हर पूजा अधूरी. ज्योतिषी कमलनाथ बता रहे हैं, एक दीपक कैसे दूर करेगा दुख दारिद्र्य और दुर्भाग्य.

आने वाला कल कैसे होगा सुंदर

* नहाते समय देवी दुर्गा का ध्यान करें.

* स्नान करने के बाद हाथों पर थोड़ा सा घी लगाएं.

* मन ही मन ॐ दुर्गा दैव्ये नमः का जाप करें.

* संभवतः कुछ हरा पहने या जेब में हरा रुमाल रखें या मिश्री खाकर घर से निकलें.

* देवी मंदिर में अथवा घर के पूजास्थल में देवी दुर्गा का पूजन करें.

* देवी का पंचोपचार पूजा करें.

Leave a Reply