Surya Yantra improves the auspiciousness of Sun.

1. जहां यंत्र को स्थापित करना है, उस जगह को सावधानीपूर्वक स्वच्छ करें।
2. उस स्थान पर एक पवित्र वेदी स्थापित करें, या नया सफेद, पीला या लाल सूती वस्त्र बिछाएं।
3. यंत्र की स्थापना पूर्वी दीवार या फिर उत्तरी दीवार पर करें।
4. यंत्र को दूसरे व्यक्ति के हाथ लगने से रोकें। पवित्रता पूर्वक रखें।
5. यंत्र की स्थापना के समय ऐसे किसी व्यक्ति को वहां आने से रोकें जो आपके प्रति सकारात्मक सोच नहीं रखता है, या किसी भी प्रकार का द्वेष रखता है।
6. यंत्र स्थापना के समय सही मुहुर्त जरूर देखें।
7. यंत्र स्थापना पर यंत्र को गंगा जल से धोकर साफ करें, सूती पवित्र वस्त्र से पौंछें ।
8. यंत्र के चारों कोनों पर रौली और चन्दन से तिलक लगाएं।
9. मिठाई , मिश्री और अन्य फलादि से प्रसाद लगाएं।
10. धूप और दीपक जलाकर यंत्र से संबंधित मंत्रों का जाप करें।
11. जिस उद्देश्य से यंत्र की स्थापना की गई है, वो प्रार्थना पूरी आस्था से ईश्वर से करें।
12. पूजा समाप्ति पर सबसे पहले प्रसाद ग्रहण करें। उसके बाद उस व्यक्ति से आशीर्वाद लें, जो आपके प्रति पूर्णतः सद्भाव रखता है।
13 अपने मन को नकारात्मकता से दूर रखें।

This Post Has One Comment

  1. blog3006.xyz

    Right here is the right website for anybody who wishes to find out about this
    topic. You know a whole lot its almost tough
    to argue with you (not that I actually would want to…HaHa).
    You definitely put a new spin on a subject that’s
    been discussed for a long time. Wonderful stuff, just excellent!

Leave a Reply