29 नवंबर 2020 को कार्तिक पूर्णिमा पर होगा गंगा स्नान, इस दिन जरूर करें राशि अनुसार ये महाउपाय

कार्तिक पूर्णिमा 2020: कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा स्नान का महत्व है। –


हिन्दू शास्त्रों में कार्तिक पूर्णिमा के दिन गंगा स्नान का महत्व बताया गया है। इस साल कार्तिक पूर्णिमा 30 नवंबर को है। शास्त्रों के अनुसार, कार्तिक पूर्णिमा के दिन स्नान और दान-पुण्य करने का महत्व है। इस दिन किसी पवित्र नदी अथवा जलकुंड में स्नान और दान-पुण्य के कार्य जरूर करना चाहिए। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, कार्तिक पूर्णिमा पर राशि के अनुसार, दान करने से ग्रह मजबूत होते हैं। और कई प्रकार के अन्य लाभ भी प्राप्त होते हैं।

मेष राशि

1.मेष राशि के जातकों को कार्तिक मास की पूर्णिमा को गुड़ का दान अवश्य करना चाहिए। ऐसा करने से आपको आर्थिक समृद्धि की प्राप्ति होगी।

2.आज पूर्णिमा के दिन हल्दी में पानी डालकर उसके पेस्ट से घर के मुख्य द्वार के दोनों तरफ स्वास्तिक का चिह्न बनाएं. भगवान विष्णु के सामने हाथ जोड़कर प्रणाम करें. आपको बहुत जल्द तरक्की मिलेगी.

3.राशि वाले लोगों आज के दिन शाम के समय तुलसी के पौधे में घी का दीपक जलाना चाहिए । आज के दिन ऐसा करने से घर की समृद्धि बनी रहेगी और घर में रहने वाले लोगों का इम्यून सिस्टम बेहतर होगा । बता दूं कि ये उपाय सभी राशि वाले लोग कर सकते हैं, लेकिन आज की ग्रह स्थिति के अनुसार मेष राशि वालों के लिए ये विशेष फलदायी है |

वृष राशि

1.इस राशि के जातकों को कार्तिक पूर्णिमा के दिन मिश्री का दान करना चाहिए। ऐसा करने से उनके जीवन में सुख और समृद्धि बनी रहेगी।

2.अपने जीवन से शत्रुओं का भय मिटाने के लिए आज के दिन भगवान विष्णु के 12 नाम लेते हुए, उन्हें पीले फूल अर्पित करें. भगवान विष्णु के 12 नाम इस प्रकार हैं- अच्युत, अनंत, दामोदर, केशव, नारायण, श्रीधर, गोविंद, माधव, हृषिकेष, त्रिविकरम, पद्मानाभ और मधुसूदन. एक नाम लें और एक फूल भगवान विष्णु को अर्पित करें. चढ़ाए गए फूलों को शाम के समय भगवान के सामने से हटाकर बहते पानी में प्रवाहित कर दें या पीपल के पेड़ के नीचे रख दें.

3.राशि वालों आज के दिन बीमारियों से छुटकारा पाने के लिए और शरीर को हष्ट-पुष्ट बनाने के लिये तिल और ऑवले का चूर्ण बनाकर, उसका लेप शरीर पर लगाकर स्नान करना चाहिए । आज के दिन ऐसा करने से सभी बीमारियों से छुटकारा मिलेगा | बता दूं कि ये उपाय सभी राशि वाले लोग कर सकते हैं, लेकिन आज की ग्रह स्थिति के अनुसार वृष राशि वालों के लिए ये विशेष फलदायी है | 

मिथुन राशि

1.इस राशि के लोग कार्तिक मास की पूर्णिमा के दिन हरे रंग की मूंग की दाल अवश्य दान करें। ऐसा करने से इनके वैवाहिक जीवन में चली आ रही परेशानी समाप्त होगी।

2.अपने परिवार का समाज में मान-सम्मान बनाए रखने के लिए आज के दिन किसी कन्या को या किसी जरूरतमंद विवाहित महिला को पीले रंग के वस्त्र देने चाहिए और उनका आशीर्वाद लेना चाहिए. यह उपाय आप आज के दिन भगवान विष्णु की पूजा के बाद किसी भी समय कर सकते हैं.

3.राशि वाले लोगों को अपना समाजिक कद एवं दायरा बढ़ाने के लिए और नौकरी में अच्छा पद पाने के लिए | आज गाय के बछड़ा, गाय, हाथी, घोड़ा, रथ या घी का दान करना चाहिए | आज के दिन ऐसा करने से सामाजिक दायरा बढ़ता है और नौकरी में अच्छा पद मिलता है | बता दूं कि ये उपाय सभी राशि वाले लोग कर सकते हैं, लेकिन आज की ग्रह स्थिति के अनुसार मिथुन राशि वालों के लिए ये विशेष फलदायी है | 

कर्क राशि

1.इस राशि के जातकों को कार्तिक मास की पूर्णिमा के दिन चावलों का दान अवश्य करना चाहिए। ऐसा करने से इन्हें मानसिक शांति की प्राप्ति होगी।

2.अपने बच्चों के और अपने बीच में शांति बनाये रखने के लिये आज के दिन अपने बच्चों के हाथों उनकी मनपसंद कोई 32 चीज़ें जरूरतमंद को दान कराएं.

3.राशि वाले लोग आज पूर्णिमा के दिन सुबह के समय जल में दूध मिलाकर पीपल के पेड़ पर चढ़ाएं, तो उस पर मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं | आज के दिन ऐसा करने से अपार धन-सम्पत्ति की प्राप्ति होती है । बता दूं कि ये उपाय सभी राशि वाले लोग कर सकते हैं, लेकिन आज की ग्रह स्थिति के अनुसार कर्क राशि वालों के लिए ये विशेष फलदायी है | 

सिंह राशि

1.सिंह राशि के जातकों को कार्तिक मास की पूर्णिमा पर गेहूं का दान अवश्य करना चाहिए। ऐसा करने से आपके मान- सम्मान में वृद्धि होगी।

2.अगर आपके घर में ‘श्रीमद्भागवत गीता’ रखी हुयी है और आप चाहते हैं कि आपके ऊपर जीवन में कभी किसी प्रकार की मुसीबत न आये तो आज के दिन मन्दिर में लाल कपड़ा बिछाकर, उस पर भगवदगीता रखें और 11 बार ‘ऊँ नमो भगवते वासुदेवाय नमः’ मंत्र का जाप करते हुए गीता का दोनों हाथों से स्पर्श करके हाथ अपनी आंखों पर लगाएं.

3.राशि वालों अगर आपको बिजनेस इंवेस्टमेंट करने में किसी प्रकार की परेशानी आ रही है तो आज भगवान विष्णु को तुलसी दल अर्पित करें। आज के दिन ऐसा करने से बिजनेस इंवेस्टमेंट संबंधी आपकी सारी परेशानियों का हल जल्दी ही निकलेगा। बता दूं कि ये उपाय सभी राशि वाले लोग कर सकते हैं, लेकिन आज की ग्रह स्थिति के अनुसार सिंह राशि वालों के लिए ये विशेष फलदायी है |

कन्या राशि

1.इस राशि के लोगों को कार्तिक मास की पूर्णिमा के दिन जानवरों को हरे रंग का चारा खिलाना चाहिए। ऐसा करने से आपके जीवन की सभी समस्याएं दूर हो जाएंगी।

2.अच्छे स्वास्थ्य की कामना के लिये आज के दिन हवन करना चाहिए. हवन शुरू करने से पहले ही आप हवन का संकल्प कर लीजिये और उसी के अनुसार हवन कीजिये. हवन के बाद छोटी कन्याओं को भोजन भी कराना चाहिए. अगर आप हवन कराने में असमर्थ हैं तो आटे की रोटी का चूरमा बनाकर श्री विष्णु को भोग लगाएं और भोग लगाने के बाद उसे छोटी कन्याओं में बांट दें.

3.राशि वाले लोग आपने घर और दुकान की तिजोरियां हमेशा भरी रहें, इसके लिये 11 कौड़ियां लेकर, उन पर हल्दी से तिलक करके आज के दिन मां लक्ष्मी को चढ़ाएं और अगले दिन सुबह इन कौड़ियों को लाल कपड़े में बांधकर अपनी तिजोरी में रख लें। इस उपाय से आपको धन की कोई भी कमी नहीं होगी। एक बात पर और ध्यान दें कि आज से प्रत्येक पूर्णिमा के दिन इन कौड़ियों को अपनी तिजोरी से निकाल कर माता के सम्मुख रखकर उन पर पुन: हल्दी से तिलक करें और फिर से अगले दिन उन्हें लाल कपड़े में बांध कर अपनी तिजोरी में रख लें। ऐसा करने से आपको और भी अच्छे फलों की प्राप्ति होगी । बता दूं कि ये उपाय सभी राशि वाले लोग कर सकते हैं, लेकिन आज की ग्रह स्थिति के अनुसार कन्या राशि वालों के लिए ये विशेष फलदायी है | 

तुला राशि

1.इस राशि के लोगों को कार्तिक मास की पूर्णिमा के दिन कन्याओं को खीर का दान अवश्य करना चाहिए। यह करने से आपको ऐश्वर्य की प्राप्ति होगी।

2.अपनी धन की तिजोरी में बढ़ोतरी के लिये आज के दिन श्री विष्णु के साथ मां लक्ष्मी की भी पूजा करें और पूजा के समय 11 अक्षत, यानी चावल के दाने लेकर एक-एक करके मां लक्ष्मी को अर्पित करें. अक्षत चढ़ाते समय मां लक्ष्मी का मंत्र बोलें- ऊं श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं महालक्ष्म्यै नमः

3.अगर आप चाहते है कि आपके घर की लक्ष्मी, यानी घर की स्त्री का सम्मान हमेशा बना रहे और घर-परिवार में उसकी वाहवाही होती रहे, इसके लिये आज कार्तिक पूर्णिमा के दिन मां लक्ष्मी को इत्र और सुगन्धित अगरबत्ती अर्पण करनी चाहिए । चढ़ाते वक्त इत्र की शीशी को खोलकर थोड़ा-सा इत्र देवी के वस्त्र पर छिड़क दें और उसके बाद कुछ अपने ऊपर छिड़क लें । आपका ऐश्वर्य सदा बना रहेगा। बता दूं कि ये उपाय सभी राशि वाले लोग कर सकते हैं, लेकिन आज की ग्रह स्थिति के अनुसार तुला राशि वालों के लिए ये विशेष फलदायी है | 

वृश्चिक राशि

1.इस राशि के लोगों को कार्तिक मास की पूर्णिमा के दिन गुड़ और चना बंदरों को खिलाने चाहिए। ऐसा करने से आपके शत्रुओं का नाश होगा।

2.अगर आप चाहते हैं कि आपकी बढ़ती हुई तरक्की को किसी की नजर न लगे, तो इसके लिये आज के दिन कोई नमकीन चीज, जिसमें नमक डला हो, गाय को खिला दें. आपकी तरक्की को कोई नहीं रोक सकता.

3.राशि वाले लोग आज के दिन सवा किलो साबुत चावल खरीदें और शिव जी के मन्दिर में जाकर उनकी विधिवत पूजा करने के बाद उन चावलों में से थोड़े से चावल लेकर शिवलिंगपर चढ़ा दें और बाकी बचे हुए चावलों को जरूरतमंदों में दान कर दें। ऐसा करने से आपको हर कार्य में सफलता मिलेगी और आपकी हर जगह जीत होगी।  बता दूं कि ये उपाय सभी राशि वाले लोग कर सकते हैं, लेकिन आज की ग्रह स्थिति के अनुसार वृश्चिक राशि वालों के लिए ये विशेष फलदायी है |

धनु राशि

1.धनु राशि वालों को कार्तिक पूर्णिमा के दिन किसी मंदिर में चने की दान अवश्य दान करें। ऐसा करने से आपको जीवन के सभी सुखों की प्राप्ति होगी।

2.अपने जीवन की खुशियों का विस्तार करने के लिये एक कच्चा नारियल लें और उस पर स्वास्तिक बनाकर श्री विष्णु को अर्पित कर दें. नारियल चढ़ाने के तुरंत बाद ही उसे तोड़कर परिवार के सब सदस्यों में बांट दें.

3.राशि वाले लोग अगर आपके पास भौतिक सुख-साधनों की कमी है तो हर तरह के सुखों की प्राप्ति के लिये आज के दिन शिवलिंग पर शहद, कच्चा दूध, बेलपत्र या शमीपत्र और कुछ फल चढ़ाने चाहिए । बता दूं कि ये उपाय सभी राशि वाले लोग कर सकते हैं, लेकिन आज की ग्रह स्थिति के अनुसार धनु राशि वालों के लिए ये विशेष फलदायी है | 

मकर राशि

1.इस राशि के लोगों को कार्तिक मास की पूर्णिमा के दिन कंबल का दान अवश्य करना चाहिए। ऐसा करने से आपकी नौकरी में आ रही सभी तरह की परेशानी दूर होंगी।

2.आपके घर में नकारात्मक शक्तियां का आगमन न हो, इसके लिये आज के दिन हल्दी में पानी डालकर उसके पेस्ट से घर के मुख्य द्वार के दोनों तरफ स्वास्तिक का चिह्न बनाएं.

3.राशि वाले लोग इस पूर्णिमा के दिन सफेद चंदन को घिसकर, उसमें केसर मिलाकर भगवान शंकर को अर्पित करें, तो घर की कलह से छुटकारा मिलता है और पारिवारिक शांति बनी रहती है।  बता दूं कि ये उपाय सभी राशि वाले लोग कर सकते हैं, लेकिन आज की ग्रह स्थिति के अनुसार मकर राशि वालों के लिए ये विशेष फलदायी है | 

कुंभ राशि

1.कुंभ राशि के लोगों को कार्तिक मास की पूर्णिमा के दिन काली उड़द की दाल अवश्य दान करनी चाहिए। ऐसा करने से आपके बिजनेस में आ रही सभी तरह की परेशानी दूर हो जाएगी।

2.मानसिक विकारों से छुटकारा पाने के लिये आज रात के समय चन्द्रमा की रोशनी में बैठकर ‘ऊँ सोमाय नमः’ मंत्र का 21 बार जाप करें.

3.राशि वाले लोग आज की रात जब चन्द्रमा आकाश में उदित हो रहा हो, तो उस समय शिवा, संभूति, संतति, प्रीति, अनुसूया और क्षमा इन छ: कृतिकाओं का पूजन करने से शिव जी के आशीर्वाद से प्रसन्नता मिलती है । बता दूं कि ये उपाय सभी राशि वाले लोग कर सकते हैं, लेकिन आज की ग्रह स्थिति के अनुसार कुंभ राशि वालों के लिए ये विशेष फलदायी है | 

मीन राशि

1.मीन राशि के लोगों को कार्तिक मास की पूर्णिमा के दिन हल्दी और बेसन की मिठाई का दान अवश्य करना चाहिए। ऐसा करने से आपके जीवन में कभी भी धन की कोई कमीं नहीं होगी।

2.अगर आपकी कोई इच्छा बहुत दिनों से किसी कारणवश पूरी नहीं हो पा रही है, तो आज के दिन कागज की 51 पर्चियां बनाएं और उन सब पर लाल पेन से ‘श्री’ लिखें. हर पर्ची पर श्री लिखते समय अपनी इच्छा मन में दोहराएं. अब इन पर्चियों को इकट्ठा करके एक कपड़े में बांध लें और भगवान विष्णु के मन्दिर में जाकर चढ़ा दें. आपकी इच्छा को जल्दी ही वास्तविक रूप मिलेगा.

3.राशि वाले लोग अगर आज कार्तिक पूर्णिमा के दिन सुबह स्नान के बाद घर के मुख्यद्वार पर अपने हाथों से आम के पत्तों का तोरण बनाकर बांधे। आज के दिन ऐसा करने से घर में आने वाली परेशानी और निगेटिव एनर्जी घर के बाहर तक आकर ही रह जायेगी, अन्दर प्रवेश नहीं कर पायेगी । बता दूं कि ये उपाय सभी राशि वाले लोग कर सकते हैं, लेकिन आज की ग्रह स्थिति के अनुसार कर्क राशि वालों के लिए ये विशेष फलदायी है | 

त्रिपुरी पूर्णिमा , जानें सही तिथि, शुभ मुहूर्त, कथा और इसका महत्व...

मान्यता है कि इस दिन देवता अपनी दिवाली कार्तिक पूर्णिमा की रात को ही मनाते हैं. इसलिए, यह सबसे महत्वपूर्ण दिनों में से एक है. कार्तिक पूर्णिमा के दिन स्नान और दान को अधिक महत्व दिया जाता है. कार्तिक पूर्णिमा पर दीप दान का भी विशेष महत्व दिया जाता है. माना जाता है कि इस दिन दीप दान करने से सभी देवताओं का आशीर्वाद मिलता हैं. वहीं, इस बार इसी दिन इस साल का आखिरी चंद्र ग्रहण भी लग रहा है. आइए जानते हैं कार्तिक पूर्णिमा की तिथि, शुभ मुहूर्त, कथा और इसका क्या है महत्व…

कार्तिक पूर्णिमा 2020 तिथि

इस वर्ष, कार्तिक पूर्णिमा 29 नवंबर को मनाई जाएगी. वहीं, इस दिन चद्र ग्रहण भी लग रहा है. पूर्णिमा तिथि 29 नवंबर की दोपहर 12 बजकर 47 मिनट से शुरू होकर 30 नवंबर को दोपहर 2 बजकर 59 मिनट पर समाप्त होगी.

कार्तिक पूर्णिमा का महत्व

एक पौराणिक कथा के अनुसार, भगवान शिव ने त्रिपुरारी का अवतार लिया था और इस दिन को त्रिपुरासुर के नाम के एक असुर को मार दिया था. यही कारण है कि इस पूर्णिमा का एक नाम त्रिपुरी पूर्णिमा भी है. इस प्रकार भगवान शिव ने इस दिन अत्याचार को समाप्त किया था. इसलिए, देवताओं ने राक्षसों पर भगवान शिव की विजय के लिए श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए इस दिन दीपावली मनाई थी. कार्तिक पूर्णिमा के दिन भगवान शिव की विजय के उपलक्ष्य में, काशी (वाराणसी) के पवित्र शहर में भक्त गंगा के घाटों पर तेल के दीपक जलाकर और अपने घरों को सजाकर देव दीपावली मनाते हैं.

देव दीपावली की पहली कथा

देव दीपावली की कथा महर्षि विश्वामित्र से जुड़ी है. मान्यता है कि एक बार विश्वामित्र जी ने देवताओं की सत्ता को चुनौती दे दी. उन्होंने अपने तप के बल से त्रिशंकु को सशरीर स्वर्ग भेज दिया. यह देखकर देवता अचंभित रह गए. विश्वामित्र जी ने ऐसा करके उनको एक प्रकार से चुनौती दे दी थी. इस पर देवता त्रिशंकु को वापस पृथ्वी पर भेजने लगे, जिसे विश्वामित्र ने अपना अपमान समझा. उनको यह हार स्वीकार नहीं थी. 

तब उन्होंने अपने तपोबल से उसे हवा में ही रोक दिया और नई स्वर्ग तथा सृष्टि की रचना प्रारंभ कर दी. इससे देवता भयभीत हो गए. उन्होंने अपनी गलती की क्षमायाचना तथा विश्वामित्र को मनाने के लिए उनकी स्तुति प्रारंभ कर दी. अंतत: देवता सफल हुए और विश्वामित्र उनकी प्रार्थना से प्रसन्न हो गए. उन्होंने दूसरे स्वर्ग और सृष्टि की रचना बंद कर दी. इससे सभी देवता प्रसन्न हुए और उस दिन उन्होंने दिवाली मनाई, जिसे देव दीपावली कहा गया.

कार्तिक पूर्णिमा के दिन करें दीप दान

कार्तिक पूर्णिमा के दिन दीप दान का भी विशेष महत्व है. देवताओं की दिवाली होने के कारण इस दिन देवताओं को दीप दान किया जाता है. ऐसा माना जाता है कि दीप दान करने पर जीवन में आने वाले परेशानियां दूर होती है.

त्रिपुरी पूर्णिमा के दिन कर लें ये उपाय, जीवन की सभी परेशानियां हो जाएंगी दूर

Kartik Purnima 2020,Kartik Purnima, Kartik Purnima special, worship method of Kartik Purnima 2020, kartik purnima festival puja, Kartik Poornima News, kartik poornima snan, kartik purnima, Kartik Poornima Mela, kartik poornima, What to do on Kartik Purnima, artik purnima ke totke,kartik purnima ke upay in hindi, Kartik Purnima Remedy, purnima ke din kya kya karna chahiye, Kartik Purnima Totka, Kartik Purnima Day Worship, astrology and spirituality kartik mas 2020 kartik purnima ke totke

हिंदू धर्म में कार्तिक मास की पूर्णिमा बहुत ही महत्वपूर्ण मानी जाती है। कार्तिक पूर्णिमा को गुरु पूर्णिमा, त्रिपुरी पूर्णिमा और कार्तिक स्नान आदि के नामों से भी जाना जाता है। इस बार 30 नवंबर, मंगलवार को कार्तिक पूर्णिमा है।

विद्वानों के अनुसार कार्तिक पूर्णिमा के दिन कुछ खास उपाय किए जाएं तो धन-दौलत की कभी कमी नहीं आती हैं। आइए जानते हैं कार्तिक पूर्णिमा के टोटके-

कार्तिक पूर्णिमा के दिन 11 कौड़ियों पर हल्दी का तिलक लगाकर तिजोरी में रखें। माता लक्ष्मी की कृपा आप पर हमेशा बनी रहेगी। इसे धनवर्षा का अचूक उपाय माना जाता हैं। इस उपाय को करने वाले जातक की तिजोरी हमेशा धन से भरी रहती हैं।

कार्तिक पूर्णिमा के दिन घर के मुख्य द्वार पर आम के पत्तों का वंदनवार लगाना चाहिए। ऐसा करने से घर की सारी नेगेटिव ऊर्जा घर से निकलती हैं। साथ ही देवी लक्ष्मी भी प्रसन्न होती हैं।

कार्तिक पूर्णिमा के दिन शनि मंदिर जाकर शनिदेव भगवान को सरसों का तेल चढ़ाना चाहिए। ऐसा करने से शनिदेव प्रसन्न हो जीवन में आने वाले सभी समस्याओं को दूर करते हैं।

कार्तिक पूर्णिमा की शाम तुलसी के पौधे के सामने घी का दीपक जलाना चाहिए। इससे घर में समृद्धि बनी रहेगी। साथ ही घर नेगेटीविटी दूर होगी।

कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा स्नान करते समय कुशा लेकर स्नान करने से लाभ होता है। इसके बाद भगवान शिव और विष्णु की पूजा करनी चाहिए। ऐसा करने वाले व्यक्ति को भगवान विष्णु की कृपा प्राप्त होती हैं।

कार्तिक पूर्णिमा के दिन गंगा स्नान और पूजा-ध्यान के बाद गरीबों को उड़द की दाल और चावल का दान करने से घर में सौभाग्य आता है। साथ ही परिवार के सदस्यों पर आने वाले सभी संकट दूर हो जाते हैं।

इस दिन घर के मुख्य द्वार पर स्वास्तिक बनायें और भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की पूजा करें।

कार्तिक पूर्णिमा के दिन चंद्र दर्शन जरुर करना चहिये, ऐसा करने से आपको अमृत प्राप्त होता है। इस दिन चांद को मिश्री और खीर का भोग लगाना भी अच्छा माना जाता है।

कार्तिक पूर्णिमा के दिन गो दान करने से अनंत पुण्य की प्राप्ति होती है।

कार्तिक पूर्णिमा के दिन अक्षय पुण्य फल प्राप्त करने के लिये नदी में चावल, शकर और दूध का दान करना चाहिये।

स्नान बाद ‘ऊँ नमो भगवते नारायणाय’ मंत्र का जाप करें। साथ ही तिल और घी से भगवान विष्णु जी के निमित्त 108 आहुतियां दें। श्री विष्णु के अलावा बाकी सभी देवताओं के लिये भी एक-एक घी की आहुति दें और अंत में एक पूर्णाहुति देकर हवन पूर्ण करें। इसके बाद ब्राह्मण को भोजन कराएं और दक्षिणा दे। ऐसा करने से सारे कार्य सफल होंगे और नकारात्मक शक्तियों से छुटकारा मिलेगा।

कार्तिक पूर्णिमा के दिन सूर्यदेव और गूलर के पेड़ की पूजा करें। ऐसा करने से सुख-समृद्धि मिलती है। कार्तिक पूर्णिमा के दिन गूलर के पेड़ की उपासना करने और दीप दान करना चाहिए इससे पूरे परिवार की तरक्की का राह खुलती है।

कार्तिक पूर्णिमा के दिन भगवान शंकर पूजा करें और मंदिर जा कर शिवलिंग पर जल अर्पित करें। इससे किसी भी कार्य को शुरू करने से पहले होने वाला भय या अनजाना भय दूर होता है।

अपनी मनोकामना की पूर्ति के लिए आप कार्तिक पूर्णिमा के दिन कार्तिकेय भगवान की विधि-पूर्वक पूजा करनी चाहिए और उनसे अपनी मनोकामना व्यक्त करनी चाहिए। इससे आपके घर में खुशहाली और सुख-शांति भी आएगी।

घर के मुख्य द्वार पर आम के पत्तों का तोरण बाधंना आपके घर में खुशहाली का रास्ता खोलेगा। घर के मंदिर में भी आम के पत्तों का तोरण लगाएं। साथ ही सुबह के समय भी भगवान विष्णु की पूजा कर धूप-दीप जलाएं। रात में चन्द्रदेव को जल और दूध अर्घ्य दें।

कार्तिक पूर्णिमा के दिन शाम को तुलसी के पौधे में घी का दीपक जलाएं। ऐसा करने से आपकी और आपके परिवार की सेहत हमेशा अच्छी रहेगी और सेहत का वरदान मिलेगा।

कार्तिक पूर्णिमा के दिन दो चन्दन के टुकड़े लें और एक टुकड़ा मन्दिर में दान दें और दूसरा टुकड़ा भगवान विष्णु को समर्पित कर दें। ये उपाय आपके दांपत्य जीवन में प्रेम को बढ़ाएगा।

उपरोक्त सभी उपाय सर्वसाधारण रुप से राशि अनुसार दिए गए है।आप अपनी कुंडली मे स्थित ग्रहो नक्षत्रों के अनुसार विशेष उपाय जानने हेतु कॉल कर सकते है अथवा निचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर सकते है।

अनुदान राशि-199

इंडिया एस्ट्रोलॉजी फ़ाउन्डेशन

ज्योतिर्विद श्यामा गुरुदेव (आध्यात्मिक मार्गदर्शक एवं ज्योतिषीय चिंतक)

Leave a Reply